गर्मी ने तोड़ा रिकॉर्ड ,जनजीवन हुआ अस्त व्यस्त

जयपुर। अप्रैल के अंत में ही गर्मी ने प्रदेश में हाहाकार मचा दिया है। सूरज के तेज से झुलसा देने वाली गर्मी ने लोगों को घरों में ही कैद करके रख दिया है। तेज गर्मी को देखते हुए जयपुर में जिला प्रशासन ने नन्हें मुन्नों को गर्मी से बचाने के लिए एक मई से उनकी छुट्टी के समय में बदलाव कर दिया है।

0
417

जयपुर। अप्रैल के अंत में ही गर्मी ने प्रदेश में हाहाकार मचा दिया है। सूरज के तेज से झुलसा देने वाली गर्मी ने लोगों को घरों में ही कैद करके रख दिया है। तेज गर्मी को देखते हुए जयपुर में जिला प्रशासन ने नन्हें मुन्नों को गर्मी से बचाने के लिए एक मई से उनकी छुट्टी के समय में बदलाव कर दिया है।

गर्मी का आलम यह है कि सुबह सात बजे से ही लोगों के पसीने छूटने लगे और 11 बजे तापमान 42 डिग्री पहुंच गया। गर्मी के चलते प्रदेश में पेयजल संकट और गहराने लगा है। पानी की खपत बढ़ने के साथ लोगों को मुंह मांगे दामों पर मजबूरीवश निजी टैंकरों का सहारा लेना पड़ रहा है।
भीषण गर्मी के चलते कूलर पंखे बेअसर साबित हो रहे हैं। राजधानी जयपुर में गर्मी की तपीश ने लोगों को निचोड़कर रख दिया है। वहीं
भीषण गर्मी को देखते हुए जयपुर जिला प्रशासन ने स्कूलों की छुट्टी के समय में बदलाव कर दिया है। 1 मई से छोटे बच्चों की दोपहर 12:30 ही छुट्टी कर दी जाएगी। इस संबंध में जिला कलक्टर सिद्धार्थ महाजन ने आदेश जारी कर दिए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here