National/ अर्द्धसैनिक बलों की कंपनियां पोलिंग बूथ के लिए रवाना

जयपुर। विधानसभा चुनाव 2018 को शांतिपूर्ण संपन्न करवाने के लिए प्रदेश पुलिस व अन्य सुरक्षाकर्मियों समेत बाहर से मंगवाई कंपनियों के करीब 1 लाख 46 हजार जवान आज से प्रदेश के पोलिंग बूथों पर तैनात होंगे। इसके लिए बुधवार शाम को पुलिस विभाग के अनुसार बनाए चार्ज के अनुसार जवान व टूकड़ियो को अलग-अलग जगह रवाना किया गया।

0
14
Assembly Elections 2018
Assembly Elections 2018

national/जयपुर। विधानसभा चुनाव 2018 को शांतिपूर्ण संपन्न करवाने के लिए प्रदेश पुलिस व अन्य सुरक्षाकर्मियों समेत बाहर से मंगवाई कंपनियों के करीब 1 लाख 46 हजार जवान आज से प्रदेश के पोलिंग बूथों पर तैनात होंगे। इसके लिए बुधवार शाम को पुलिस विभाग के अनुसार बनाए चार्ज के अनुसार जवान व टूकड़ियो को अलग-अलग जगह रवाना किया गया।

चुनाव के दौरान सुरक्षा व कानून व्यवस्था के संबंध में आज डीजीपी ओपी गल्होत्रा पुलिस मुख्यालय में विस्तृत चर्चा करेंगे। आपको बता दे कि प्रदेश में 51965 मतदान केन्द्र बनाए गए है जिनमें 13382 मतदान केन्द्र संवेदनशील है। सुरक्षाकर्मियो की चौथी फीसदी कंपनिया इन मतदान केन्द्रों में भेजी गई है। प्रदेश का सबसे संवेदनशील संभाग भरतपुर है। जहां सुरक्षा के अतिरिक्त इंतजाम किए गए है।

-रेड्डी बीजेपी के लाभर्थी, चुनाव से हटाए-कांग्रेस

चुनाव से ठिक दो दिन पहले कांग्रेस ने बुधवार को निर्वाचन विभाग से शिकायत कर विशिष्ट डीजी एनआर के रेड्डी को चुनाव ड्यूटी से हटाने की मांग की है। कांग्रेस का आरोप है कि रेड्डी को बीजेपी ने नियम विरूध प्रमोशन देकर डीजी बनाया और कानून व्यवस्था विभाग का महत्वपूर्ण जिम्मा सौंपा है जो चुनाव से जुड़ा हुआ है। कांग्रेस का आरोप है कि रेड्डी बीजेपी के लाभार्थी है इस लिए उनको तुरंत चुनाव ड्यूटी से हटाया जाए। ज्ञात रहे रेड्डी के पास डीजी होमगार्ड का भी चार्ज है और काफी मात्रा में होमगार्ड चुनाव ड्यूटी में लगे है जिन पर कांग्रेस को गड़बड़ी करने का शक है। फिलहाल शिकायत पर निर्णय नहीं हुआ है।

-सी-विजिलेंस एप कारगर

चुनाव संबंधी शिकायतें व अचार संहिता की पालना सुनिश्च करने के लिए निर्वाचन विभाग की तरफ से जारी की गई सी-विजिलेंस एप कारगर सिद्व हुई है। बुधवार शाम तक इस एप पर 3585 शिकायतें आई, इस पर निर्वाचन विभाग व उसकी टीम ने 2985 शिकायतों का निस्तारण किया है। इन शिकायतों में 468 को आरओ में रखा गया है। जबकि 157 शिकायतें फर्जी पाई गई है, करीब 31 शिकायतें जांच में विचाराधीन है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here