Politics/प्रधानमंत्री मोदी फिर से राजस्थान में गरजे, कांग्रेस पर जमकर निशाने साधे

जयपुर। प्रधानमंत्री फिर राजस्थान पहुंचे। सुबह हनुमानगढ़, दोपहर में शेखावाटी और शाम को ऐतिहासिक गुलाबीनगर में बड़ी जनसभाएं की। सभाओं ने मोदी ने कांग्रेस पर जमकर निशाने साधे।

0
17

Politics/जयपुर। प्रधानमंत्री फिर राजस्थान पहुंचे। सुबह हनुमानगढ़, दोपहर में शेखावाटी और शाम को ऐतिहासिक गुलाबीनगर में बड़ी जनसभाएं की। सभाओं ने मोदी ने कांग्रेस पर जमकर निशाने साधे। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा मोदी को भारत माता की जय बोलने पर आपत्ति उठाने पर बेहद आक्रोशित शब्दों में पीएम ने कहा, हमारी हड्डियां जब गंगा में प्रवाहित होंगी तो उसमें से भी भारत माता की जय की आवाज आएगी। ये नामदार कौन होते हैं हमें रोकने वाले।

मोदी ने भारत-पाकिस्तान बंटवारे के वक्त की कांग्रेस की गलतियों को गिनाया और उन्होंने कहा कि इन्हीं गलतियों में से एक करतारपुर है। गुरुनानक देव की भूमि बंटवारे में पाकिस्तान में चली गई, क्योंकि कांग्रेस ने इस पर ध्यान नहीं दिया। मोदी ने कहा कि विभाजन के वक्त अगर कांग्रेस नेताओं में इस बात की थोड़ी भी समझदारी, संवेदशीलता और गंभीरता होती तो तीन किलोमीटर की दूरी पर हमारा करतारपुर हमसे अलग नहीं होता।
सत्ता के मोह में कांग्रेस पार्टी ने इतनी गलतियां की हैं जिनको आज पूरे देश को भुगतना पड़ रहा है। मोदी ने इस सभा से श्रीगंगानगर और हनुमानगढ़ जिले की 11 सीटों को कवर किया। ये क्षेत्र पंजाब बॉर्डर से जुड़ा है। यहां सिख समुदाय का अच्छा प्रभाव है। मोदी ने कहा, 1947 में जब भारत का विभाजन हुआ तो राजगद्दी में बैठने की इतनी जल्दबाजी थी कि मुसलमानों को इस्लाम के नाम पर अलग देश चाहिए था। उनका एजेंडा साफ था।

उस समय के नीति निर्धारकों से गलतियां हुईं। उसी का नतीजा है कि गुरुनानक देव की कर्मभूमि करतारपुर साहब पाकिस्तान में चला गया। आज अगर करतारपुर कॉरिडोर बन रहा है तो इसका क्रेडिट मोदी को नहीं बल्कि देश की जनता के वोट को जाता है। वह जो भी करके गए मेरे नसीब में ही आया है। इसका क्रेडिट किसको है? 70 साल तक कांग्रेस सत्ता में रही। लड़ाईयां भी लड़ीं। लाहौर में झंडा फहराने की बात हुई लेकिन नानक के चरणों में माथा टेकने का प्रबंध नहीं हुआ। 365 दिन में जब कारिडोर बन जाएगा तो कोई भी हिंदुस्तानी आराम से करतारपुर चला जाएगा। माथा टेक कर चला आएगा।

नामदार कहेगा हरी मिर्च की नहीं, लाल मिर्च की खेती करिए

मोदी ने कहा,नामदार झूठ बोलकर किसानों का अपमान करते हैं। इसमें वे माहिर हैं। इस नामदार से कोई कह दे कि हरी मिर्च के किसान को कम पैसा मिलता है और लाल मिर्च के किसान को ज्यादा तो वे भाषण देंगे कि किसानों को हरी की नहीं लाल मिर्च की खेती करनी चाहिए।

पांच साल पहले अखबार में हेडलाइन होती थी-

आज कोयले में इतना घोटाला हुआ, 2जी का घोटाला हुआ, पनडुब्बी में घोटाला हुआ, इसने चोरी की, उसने लूट लिया। ऐसी ही खबरें आती थीं। आज सरकार बने चार साल से ज्यादा हो गए हैं। अब ऐसी खबरें नहीं आतींं, देश के पैसों की लूट बंद हो गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here