श्रीश्याम भजन संध्या सेवा परिवार सेवा समिति 26वें वार्षिकोत्सव का शुभारंभ

जयपुर। श्रीश्याम भजन संध्या सेवा परिवार सेवा समिति का तीन दिवसीय 26 वां वाषिकोत्सव शुक्रवार को 21 00 महिलाओं की निकली कलशयात्रा के साथ शुरू हुआ। इस दौरान आसपास का श्याममय हो गया। कलशयात्रा यात्रा संयोजक रमेशचंद खंडेलवाल तुंगावालों ने बताया कि आज साम को 2100 महिलाओं की कलशयात्रा पीतल फैक्ट्री स्थित श्रीराधा दामोदर मंदिर से श्याम प्रभु के के जयकारों के साथ रवाना हुई।

0
211

जयपुर। श्रीश्याम भजन संध्या सेवा परिवार सेवा समिति का तीन दिवसीय 26 वां वाषिकोत्सव शुक्रवार को 21 00 महिलाओं की निकली कलशयात्रा के साथ शुरू हुआ। इस दौरान आसपास का श्याममय हो गया। कलशयात्रा यात्रा संयोजक रमेशचंद खंडेलवाल तुंगावालों ने बताया कि आज साम को 2100 महिलाओं की कलशयात्रा पीतल फैक्ट्री स्थित श्रीराधा दामोदर मंदिर से श्याम प्रभु के के जयकारों के साथ रवाना हुई।

आनंदी देवी सारड़ा, काले हनुमान मंदिर के महंत गोपालदासजी महाराज गोविंददेवजी मंदिर के महंत अंजन कुमार गोस्वामी ने पूजा-अर्चना कर रवाना किया। कलशयात्रा में 2100 महिलाएं एक ही रंग की साड़ी पहन कर चल रही थीं। पुरुष श्रद्धालु भी एक ही रंग के कुर्ते-पायजामे के श्याम प्रभु का निशान लेकर मार्ग को भजनों का स्वर लहरियों से भिगो रहे थे।

कलशया़़त्रा के दौरान समिति के स्वागताध्यक्ष लक्ष्मीनारायण सैनी, राजेश खंडेलवाल, हरिशंकर टोडवाल, मुकेश सैनी, हरिशंकर केदावत, महेन्द्र हल्दिया, प्रहलाद स्वरूप, महेन्द्र रावत, उमेश रावत, समिति के संरक्षक रामबाबू कायथवाल, प्रेम पोद्दार, रामबाबू झालानी, पवन गोयल, ओमप्रकाश नाटाणी, मंहामंत्री शंकर झालानी, शंकर नाटाणी, राजू महरवाल, कैलाश बडाया, ओ पी बडाया, राजेश कट्टा,अरूण गुप्ता सहित अनेक पदाधिकारी कलशयात्रा में सहित हजारों की संख्या में श्रद्धालु उपस्थित रहे।

कलश यात्रा संयोजक रमेशचंद खंडेलवाल ने बताया कि मार्ग में 21 स्वागत द्वारों पर पुष्प वर्षा कर कलशयात्रा का स्वागत किया गया। तीन बैंड, चार झांकियों और हाथी-घोड़े-ऊंट के लवाजमे के साथ कलशयात्रा कांवटिया सर्किल पहुंची। जहां पर जयपुर जिला वैश्य महासम्मेलन की ओर से आरती की गई। कलशयात्रा उत्सव स्थल खंडेलवाल कॉलेज पहुंची। यहां पर पुनः आरती हुई।

कार्यक्रम संयोजक रमेशचंद नमीत मेहता ने बताया कि 29 सितम्बर को शाम सात बजे से आरती के साथ श्याम प्रभु की भजन संध्या का शुभारंभ होगा जो कि तीस सितम्बर को भी अनवरत जारी रहेगी। कोलकाता के कारीगर श्याम प्रभु के दरबार को अंतिम रूप देने में जुटे हैं। भजन संध्या में अहमदाबाद के नंदकिशोर शर्मा, मुंबई के लखवीर सिंह लक्खा, विनोद कुमार गरोडिया, संजय मित्तल, कन्हैया मित्तल, रवि बेरिवाल, राजू मेहरा, विकास रुइया, राजू खंडेलवाल, रवि शर्मा, मनोज शर्मा, सुशील गौत्तम, रजनी राजस्थानी, निशा दत्त सहित अन्य कलाकार भजनों की प्रस्तुतियों से बाबा का रिझाएंगे।

कार्यक्रम के सह संयोजक कन्हैया लाल अग्रवाल और मुरारी अग्रवाल ने बातया कि अमृत भजन गंगा का शुभारंभ मां आनंदी देवी सारडा आरती के साथ करेंगी। 29 सितम्बर को सुबह 10 बजे कुष्ठ रोगियों का सम्मान किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here