श्रीराम बायोसीड और कीजीन अपने राईस बूस्टर प्रोग्राम के तहत भारतीय बाज़ारों के लिए पेश करेंगे चावल की बेहतर संकर किस्में

श्रीराम बायोसीड और कीजीन ने चावल की बेहतर संकर किस्मों के विकास के लिए आपसी सहयोग से बहु-वर्षीय अनुसंधान कार्यक्रम का ऐलान किया है, जिसके तहत भारत एवं दक्षिण-पूर्वी एशिया के उपभोक्ताओं केे लिए उच्च उत्पादकता, बेहतर सहिष्णुता और उत्कृष्ट गुणावत्ता वाले चावल की किस्में तैयार की जाएंगी।

0
397
श्रीराम बायोसीड और कीजीन ने चावल की बेहतर संकर किस्मों के विकास के लिए आपसी सहयोग से बहु-वर्षीय अनुसंधान कार्यक्रम का ऐलान किया है, जिसके तहत भारत एवं दक्षिण-पूर्वी एशिया के उपभोक्ताओं केे लिए उच्च उत्पादकता, बेहतर सहिष्णुता और उत्कृष्ट गुणावत्ता वाले चावल की किस्में तैयार की जाएंगी। कीजीन का आधुनिक प्लेटफॉर्म बायोसीड के चावल के जर्मप्लाज़्म में इन महत्वपूर्ण विशेषताओं को शामिल करेगा। यह कार्यक्रम क्षेत्र में संकर चावल के बाज़ार के विकास में योगदान देगा।
साझेदारी के तहत दोनों कंपनियां संयुक्त रूप से निवेश करेंगी। ‘‘चावल की संकर किस्मों में नए गुण पैदा करने के उद्देश्य से यह निवेश किया जाएगा, ताकि भारतीय एवं दक्षिण-पूर्वी एशियाई बाज़ारों के उपभोक्ताओं की पसंद को ध्यान में रखते हुए बेहतरीन गुणवत्ता का चावल उपलब्ध कराया जा सके। यह साझेदारी बेहतरीन गुणवत्ता एवं उच्च उत्पादकता के चावल का उत्पादन कर किसानों का मुनाफ़ा भी बढ़ाएगी।’’ अर्जेन वैन तुनेन, सीईओ कीजीन ने कहा। 
‘‘हम कीजीन के साथ इस विस्तारित साझेदारी को लेकर बेहद उत्साहित हैं। कीजीन की आधुनिक तकनीकें हमें चावल की बेहतरीन किस्मों के उत्पादन में मदद करेंगी, साथ ही हमारी प्रभाविता बढ़ाकर चावल की गुणावत्ता में भी सुधार लाएगी।’’ डॉ परेश वर्मा, डायरेक्टर रीसर्च, श्रीराम बायोसीड ने कहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here