साल 2019 के जश्न के लिए राजधानी में उमड़े पर्यटक

जयपुर। नव वर्ष का जश्न मनाने राजस्थान की राजधानी जयपुर में पहुंचने वाले सैलानियों का आंकड़ा अगले तीन दिन में तीन से चार लाख के पार कर सकता है। दरअसल, पिंकसिटी जयपुर में क्रिसमस के साथ ही नए साल के जश्न को देश-विदेश से आने वाले मेहमानों का जमावड़ा शुरू हो गया है। शुक्रवार को भी शहर पावणों (मेहमानों) से आबाद नजर आया ।

0
15

जयपुर। नव वर्ष का जश्न मनाने राजस्थान की राजधानी जयपुर में पहुंचने वाले सैलानियों का आंकड़ा अगले तीन दिन में तीन से चार लाख के पार कर सकता है। दरअसल, पिंकसिटी जयपुर में क्रिसमस के साथ ही नए साल के जश्न को देश-विदेश से आने वाले मेहमानों का जमावड़ा शुरू हो गया है। शुक्रवार को भी शहर पावणों (मेहमानों) से आबाद नजर आया । क्रिसमस के बाद अब न्यू ईयर के चलते राजधानी जयपुर ट्यूरिज्म का हॉट स्पॉट बनकर उभरा है। पिछले दो दिन में ही शहर में आने वाले पर्यटकों की संख्या 40 से 60 हजार के पार पहुंच गई है। उम्मीद की जा रही है कि 31 दिसंबर तक यह आंकड़ा तीन से चार लाख के पार पहुंच सकता है।

हेरिटेज स्पॉट्स पर जाम के हालात: शुक्रवार सुबह की बात करें तो कनक घाटी से लेकर आमेर तक जाम की स्थिति बनी रही। सैकड़ों की संख्या में पर्यटक वाहन रेंगते हुए जलमहल की तरफ से आमेर की तरफ बढ़ रहे थे। टैफ (पर्यटक सहायता बल) और पुलिस के जवान हालात पर नजर रखे हुए थे और पर्यटकों को आमेर की तरफ ले जाया जा रहा था।

आमेर पहुंच रहे हैं सर्वाधिक सैलानी:

सर्वाधिक सैलानी आमेर पहुंच रहे हैं तो नाहरगढ़, जंतर मंतर, हवामहल, जलमहल, सिटी पैलेस, अल्बर्ट हॉल और ईसरलाट देखने वालों की संख्या भी काफी उत्साहजनक रही। पावणों में विश्व धरोहर आमेर के मावठे, सागर, शीशमहल और मानसिंह महल को देखने की ज्यादा ललक रही। पर्यटक हाथी सवारी का भी जमकर लुत्फ उठा रहे हैं।

पर्यटन उद्योग की उम्मीदों को लगे पंख:

ट्रेवल एजेंट और ट्यूर आॅपरेटर्स में भी पर्यटकों की बढ़ती संख्या से उत्साह का माहौल बना हुआ है और पर्यटन उद्योग उम्मीद कर रहा है कि 31 दिसंबर तक शहर में आने वाले पर्यटकों की संख्या तीन लाख से ज्यादा हो सकती है। ऐसे में होटल, रेस्टारेंट और पर्यटन उद्योग से जुड़े अन्य लोग सैलानियों को लुभाने के लिए विभिन्न कार्यक्रम भी आयोजित कर रहे हैं। इनमें पोलो मैच, हाथी सवारी, ऊंट सवारी सहित विभिन्न तरह के आयोजन शामिल हैं।

पर्यटकों के लिए सफर महंगा

राजधानी में नए साल का जश्न मनाने आने वाले पर्यटकों के लिए सफर महंगा साबित हो रहा है। दरअसल नववर्ष मनाने के लिए बड़ी संख्या में पर्यटक जयपुर पहुंच चुके हैं और बहुत से अगले दो-तीन दिन में आने वाले हैं और इसी के चलते एयरलाइंस कंपनियों ने जयपुर के फ्लाइट्स के किराए में दोगुना तक बढ़ोतरी कर दी है।

उल्लेखनीय है कि देश के विभिन्न शहरों से पर्यटक आएंगे। लेकिन ये सफर उनके लिए सुहाना नहीं रहेगा। नया साल जेब पर महंगा पड़ेगा। एक तरफ हवाई सफर महंगा हो गया है, वहीं ट्रेनों में सीटें उपलब्ध नहीं हैं। सार्वजनिक क्षेत्र की विमानन कंपनी एयर इंडिया सहित सभी निजी विमानन कम्पनियों ने हर बार की तरह इस बार भी मौके को भुनाने के प्रयास तेज कर दिए हैं। नववर्ष मनाने के लिए शहरवासी आवागमन करते हैं, लिहाजा एयरलाइंस ने भी हवाई किराए में बढ़ोतरी कर दी है।

जयपुर से देश के 9 शहरों के लिए सीधी फ्लाइट्स संचालित हो रही हैं। दिल्ली के लिए रोज 12 से 13 फ्लाइट होने के बावजूद विमानन कंपनियों ने किराए में दो से तीन गुना तक बढ़ोतरी कर दी है। वहीं मुम्बई से जयपुर आने जाने वाले यात्रियों की संख्या में खास बढ़ोतरी नहीं देखी जा रही है। इसलिए मुम्बई से जयपुर का किराया आम दिनों से थोड़ा ही ज्यादा है,यानी मुम्बई के किराए में अधिक बढ़ोतरी नहीं हुई है।

जानकारी के अनुसार चेन्नई से जयपुर आने के लिए 32 से 33 हजार रुपए तक किराया लग रहा है। इसकी प्रमुख वजह यह है कि पिछले दिनों एयर कोस्टा ने चेन्नई की फ्लाइट बंद कर दी है और अब चेन्नई से जयपुर की इंडिगो की केवल एक फ्लाइट बची है।

एयरलाइंस की मनमर्जी पर लगाम नहीं

नववर्ष का यह उल्लास एक ओर ट्रेनों व हवाई सफर के लिहाज से परेशान करने वाला बना हुआ है। वहीं रेलवे प्रशासन ने अतिरिक्त ट्रेनें चलाकर और ट्रेनों में कोच बढ़ाकर यात्रियों के लिए राहत देने की कोशिश कर रहा है , लेकिन गौर करने वाली बात यह है कि किराए में लगाम लगाने के दावा करने वाला नागरिक उड्डयन मंत्रालय और नागर विमानन महानिदेशालय एयरलाइंस की मनमर्जी पर रोक लगाने में कामयाब नहीं हो पा रहे हैं।

वापसी पर भी महंगा होगा सफर!

नववर्ष के इस उत्सव के बाद 1 से 4 जनवरी तक जयपुर से जाने वाली फ्लाइट्स में भी लगभग इतना ही किराया लग रहा है। यानी पर्यटक जब जयपुर में नववर्ष मनाने के बाद वापस लौटेंगे तो भी उन्हें अधिक किराया चुकाना होगा।

रेलवे से सफर मुश्किल, कई ट्रेनों में कोच बढ़ाए गए

वहीं रेल यातायात की स्थिति भी बहुत अच्छी नहीं दिख रही है, जयपुर से मुम्बई, अहमदाबाद, जम्मूतवी, चंडीगढ़ और जैसलमेर आदि पर्यटन स्थलों के लिए जाने वाली ट्रेनों में सीटें नहीं मिल पा रही हैं। जम्मूतवी, अहमदाबाद और मुम्बई की ट्रेनों में 80 से 100 के बीच वेटिंग देखने को मिल रही है। इसे देखते हुए हालांकि रेलवे प्रशासन ने अतिरिक्त ट्रेनों के संचालन की कवायद की है। सर्दियों के अवकाश को देखते हुए एक दर्जन से ज्यादा ट्रेनों में अतिरिक्त कोच भी जोड़े जा रहे हैं।

तैनात रहेंगे तीन से चार हजार से अधिक पुलिस के जवान

नए साल के जश्न की तैयारी जोरों-शोरों पर है। जयपुर में सुरक्षा व्यवस्था को लेकर गृह विभाग ने भी कमर कस ली है। नए साल के जश्न के चलते रेलवे स्टेशन, मंदिर, मॉल, बस स्टेण्ड सहित प्रमुख स्थलों पर चप्पे-चप्पे पर पुलिस को तैनात करने की तैयारियां की जा रही है।

नए साल के कार्यक्रमों को देखते हुए पुलिस मुख्यालय ने सभी जिला पुलिस अधीक्षकों को सुरक्षा व्यवस्था कडी करने को कहा है। नए साल के जश्न को लेकर सुरक्षा व्यवस्था में करीब 3 से 4 हजार से अधिक पुलिस के जवान तैनात किए गए है। वहीं चारदीवारी सादा वर्दी में जवान तैनात रहेंगे। जयपुर पुलिस कमिश्नरेट ने सभी थानों को अलर्ट रहने के निर्देश जारी किए है। साथ ही सभी प्रमुख कार्यक्रम स्थलों पर सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने को भी कहा है।

यातायात पुलिस ने किया एक दर्जन टीमों का गठन: नए साल के जश्न में किसी प्रकार का खलल न पड़े इसके लिए यातायात पुलिस ने एक दर्जन टीमों का गठन किया है। ये टीमें प्रमुख स्थानों पर तैनात रहकर शराब पीकर वाहन चलाने, ओवरस्पीड, बिना हेलमेट सहित अन्य यातायात के नियमों का उल्लघंन करने वालों पर कार्रवाई करेंगी। इसके अलावा पुलिस के जवानों को करीब डेढ़ दर्जन से अधिक ब्रेथएनेलाइजर भी दिए गए है। तेज रफ्तार के लिए आधा दर्जन से अधिक इंटरसेप्टर भी तैनात किए जाएंगे।

पर्यटकों की बसों को चारदीवारी में प्रवेश नहीं

उधर जयपुर में बड़ी संख्या में देशी-विदेशी पर्यटक आ रहे है। इसके चलते यातायात व्यवस्था में आमूल-चूल परिवर्तन किया गया है। पर्यटकों की बसों को चारदीवारी में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। वे दिल्ली रोड, रामगढ़ मोड़ होते हुए सांगानेरी गेट जा सकेगी। वहीं ऊंटगाड़ी, बैलगाडी सहित अन्य इसी प्रकार के वाहनों को भी चारदीवारी में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। चारदीवारी में यातायात पुलिस के अतिरिक्त जाप्ता लगाया जाएगा।

आमेर तिराहा-धोबी घाट से आने वाले वाहनों को वन वे से निकाला जाएगा। यातायात दबाव बढ़ने पर ई रिक्शों को दूसरे मार्गो पर डायवर्ट किया जा सकेगा। इसके अलावा जौहरी बाजार, चौडा रास्ता, चांदपोल, बड़ी व छोटी चौपड़, किशनपोल बाजार में मिडियन कट बंद किए जाएंगे। दो घंटे सेअधिक वाहनों को पार्क नहीं करने दिया जाएगा।

जीआरपी थाना पुलिस भी मुस्तैद

जीआरपी थाना अधिकारी संपत राज ने बताया कि जीआरपी पुलिस, रेलवे पुलिस, एटीएस आईबी से संपर्क कर सुरक्षा बढ़ा रही है। रेलवे स्टेशन पर सघन चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है, एक- एक व्यक्ति को ठीक से चेक करके ही रेलवे स्टेशन के अंदर जाने दिया जा रहा है । वही टेक्नोलॉजी के माध्यम से भी चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है, व्यक्ति विशेष के बैग और सामान को भी चेक किया जा रहा है ।

संदिग्ध व्यक्ति पर नजर रखने के लिए सिविल में भी पुलिस को तैनात किया गया है। डॉग स्क्वायड की सहायता भी ली जा रही है। इसके अलावा 31 दिसंबर और 1 जनवरी को देखते हुए अतिरिक्त जाप्ता तैनात किया गया। रेलवे स्टेशन में टिकट काउंटर, पार्किंग स्थल पर अतिरिक्त पुलिस जाप्ता तैनात किया गया है। नया साल खुशियों से बनाया जाए उसको लेकर पुलिस अलर्ट है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here