होली आज,कल धुलंडी:भद्रा के चलते रात 9 बजे से मध्यरात्रि 12:15 बजे तक है होलिका दहन का शुभ मुहूर्त

रंगों के पर्व होली पर शहर भी रंगों से सज चुका है। शहर में जगह-जगह गुलाल व पिचकारियों की दुकानों पर खरीदारों की भीड़ उमड़ रही है। दुकानदारों ने बताया कि इस बार कई पिचकारियां अलग-अलग डिजायन में आई हैं। जिन्हें बच्चे चाव से खरीद रहे हैं।

0
37
holika dahan
holika dahan

जयपुर। रंगों के पर्व होली पर शहर भी रंगों से सज चुका है। शहर में जगह-जगह गुलाल व पिचकारियों की दुकानों पर खरीदारों की भीड़ उमड़ रही है। दुकानदारों ने बताया कि इस बार कई पिचकारियां अलग-अलग डिजायन में आई हैं। जिन्हें बच्चे चाव से खरीद रहे हैं।

इस बार होलिका दहन 20 मार्च बुधवार को चतुर्दशी युक्त पूर्णिमा में मनाया जाएगा। 21 मार्च गुरुवार को धुलंडी मनाई जाएगी। इसके लिए शहर में तैयारियां शुरू हो गई हैं। शहर की हर गलियों में होली पर विशेष तैयारियां की जा रही हैं।
20 मार्च को रात 9 बजे तक भद्रा रहेगी।

इससे होलिका दहन भद्रा के बाद 9 बजे करना श्रेष्ठ रहेगा। बुधवार के दिन होलिका दहन करना सभी लोगों के लिए श्रेष्ठ फलदायी रहेगा। सिंह राशि का स्वामी सूर्य बुध का मित्र ग्रह होने से आपसी समता व प्रेम बढ़ेगा। दूसरे दिन गुरुवार को रंगों का पर्व धुलंडी मनाई जाएगी।

धर्मसिंधु के अनुसार भद्रा काल में होलिका दहन करने से उस क्षेत्र में अशुभ घटनाएं हो सकती हैं। नारद पुराण के अनुसार होलिका दहन फाल्गुन पूर्णिमा का भद्रा रहित प्रदोष काल में करना चाहिए। इस बार सुबह 10:48 से रात 9 बजे तक भद्रा रहेगी। इसलिए होलिका दहन का शुभ मुहूर्त भद्रा के पश्चात रात 9 बजे से मध्यरात्रि 12:15 बजे तक रहेगा। ऐसा माना जाता है कि भद्रा में होलिका दहन नहीं किया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here