National/गुर्जर आंदोलन समाप्त … सरकार से लिखित समझौते के बाद 9वें दिन माने

जयपुर। प्रदेश में 9दिन से पांच प्रतिशत आरक्षण की मांग को लेकर सवाई माधोपुर के मलारना डूंगर रेल ट्रेक से पूरे प्रदेश में चल रहे गुर्जर आंदोलन बिना गोली लाठी के शनिवार को सुखद तरीके से समाप्त हो गया।

0
29
Gujjar agitation end
Gujjar agitation end

National/जयपुर। प्रदेश में 9दिन से पांच प्रतिशत आरक्षण की मांग को लेकर सवाई माधोपुर के मलारना डूंगर रेल ट्रेक से पूरे प्रदेश में चल रहे गुर्जर आंदोलन बिना गोली लाठी के शनिवार को सुखद तरीके से समाप्त हो गया। रेल ट्रेक पर शनिवार को 10 बजे सरकार की ओर से समझौता ड्राफ्ट लेकर मंत्री विश्वेन्द्र सिंह और आईएएस नीरज के पवन कर्नल किरोडी सिंह बैंसला के पास पहुंचे और समझौत ड्राफ्ट को पढ कर तुरंत आंदोलन खत्म करने की घोषणा की।

आंदोलन खत्म होते ही सवाई माधोपुर—कोटा, बयाना—मुंबई मार्ग पर रेल यातायात बहाल होने लगा है और क्षेत्र में जगह जगह राजमार्गों पर लगा जाम भी हटा दिया गया है और आवागमन शुरू होने से लोगों के चेहरों पर खुशी देखी गई। शनिवार सुबह 9 बजे आईएएस नीरज के पवन, मंत्री विश्वेन्द्र सिंह सवाई माधोपुर से मलारना डूंगर स्थित रेल ट्रेक पर पहुंचे और समझौता पत्र को ट्रेक पर बैठे कर्नल किरोडी सिंह बैंसला को सौंपा।

ड्राफ्ट को गुर्जर प्रतिनिधियों ने पढा और लगभग डेढ घंटे तक आपस में वार्ता चली और गुर्जर नेता समझौता ड्राफ्ट से सहमत नजर आए। दोपहर सवा ग्यारह बजे कर्नल किरोडी सिंह बैंसला ने आंदोलन समाप्त करने की घोषणा की और ऐलान किया कि प्रदेश में जहां भी रेल या सडक मार्ग पर जाम लगाया गया है उसे तत्काल हटा लिया जाए। कर्नल बैंसला ने इस मौके पर कहा कि हमें 5 फीसदी आरक्षण मिल गया है। इसमें कोई कानूनी अडचन आएगी तो आएगी तो उसे दूर करने के लिए सीएम गहलोत ने आश्वासन दिया है।

उधर आंदोलन खत्म होते ही प्रदेश की जनता के चेहरों पर खुशी देखी गई तो गृह विभाग, पुलिस मुख्यालय और सीएमओ में अफसरों के चेहरों पर खुशी देखी गई। अफसर एक दूसरे को बधाई देते दिखे। अफसरों का कहना था कि बिना गोली लाठी के आंदोलन खत्म हो जाना वाकइ चौंकाने वाला है।

-असुविधा के लिए जनता से कर्नल ने माफी मांगी

आंदोलन समाप्त होने और सरकार द्वारा पांच प्रतिशत आरक्षण का समझौत पत्र देने के बाद कर्नल किरोडी सिंह बैंसला ने प्रदेश की जनता से माफी मांगी और कहा कि समाज के हक के लिए आंदोलन किया था। इस दौरान प्रदेश की जनता को हुई परेशानी के लिए वे समाज की तरफ से माफी मांगते हैं। कर्नल ने मुख्यमंत्री गहलोत को अपना पंसदीदा सीएम बताते हुए कहा कि गहलोत इज माई फेवरिट सीएम, कर्नल के इस बयान से डिप्टी सीएम व उनके समर्थको को झटका लगना भी बताया जा रहा है।

गहलोत का ट्विीट…

गहलोत ने ट्विीट कर बीजेपी पर साधा निशाना…

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने गुर्जर समाज की ओर से चलाए जा रहे आंदोलन को समाप्त करने का स्वागत किया है। गहलोत ने ट्विटर पर नौ दिन से चले आंदोलन की समाप्ति का स्वागत करते हुए अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि गुर्जर समाज के आरक्षण संघर्ष समिति के संयोजक कर्नल किरोडी सिंह बैसला के नेतृत्व में जब-जब गुर्जर समाज के आंदोलन हुए हैं, हम बिना पुलिस के बल प्रयोग के इसे लोगों से वार्ता एवं संवाद के माध्यम से सुलझाने में कामयाब रहे हैं।

उन्होंने कहा कि आज भी हमें दु:ख है कि भारतीय जनता पार्टी शासन में 72 गुर्जरों की पुलिस की गोली से मौत हो गई थी। उन्होंने कहा कि भाजपा शासन में जब भी आंदोलन हुए हैं तो कांग्रेस के नेताओं ने आंदोलनकारियों से हमेशा शांति बनाने की अपील की है लेकिन मुझे दु:ख है कि कांग्रेस शासन में जब भी ऐसे आंदोलन हुए हैं, भाजपा के वरिष्ठ नेताओं ने भी हमेशा इनको भड़काने का कार्य ही किया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और भाजपा की सोच में यही फर्क है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here