July 16, 2024, 4:58 am
spot_imgspot_img

एनआईए प्रो यादव राज्य स्तरीय पं. गंगासहाय जोशी धनवंतरी अवार्ड से हुए सम्मानित

जयपुर। आस्था सांस्कृतिक संस्था के अध्यक्ष बीएम शर्मा ने बताया कि राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान डीम्ड यूनिवर्सिटी (एनआईए) के रिसर्च डीन प्रो छाजूराम यादव को चिकित्सा एवं मानव कल्याण के क्षेत्र में विशिष्ट योगदान के लिए प्रसिद्ध राज्य स्तरीय पं गंगासहाय जोशी धनवंतरी सम्मान अवार्ड से महंत हरिशंकरदास वेदांती, हाथोज धाम के महंत बालमुकुंद आचार्य महाराज और सर्व ब्राह्मण महासभा अध्यक्ष पं. सुरेश मिश्रा सहित गणमान्य लोगों के सानिध्य में सम्मानित किया गया। संस्था मंत्री चेतन व्यास ने मंच संचालन किया।

एसोसिएट प्रो महेंद्रप्रसाद ने प्रो यादव को बधाई देते हुए कहा कि ग्रामीण क्षेत्र के प्रो यादव एनआईए के मेघावी छात्र रहे और वर्ष 2008 में इसी संस्थान में लेक्चरर बन अल्प समय में अपनी मेहनत, लगन और उच्च अध्ययन से डीन रिसर्च के पद पर आसीन हैं। हमें खुशी है कि प्रो यादव ने अब तक आयुष मेगा अवार्ड, एनआईए लेटर आफ एक्सीलेंस, वैद्य के एल मिश्रा अवार्ड, बेस्ट थीसिस अवार्ड, योग्यता प्रमाण पत्र, कॉविड वॉरियर अवार्ड, आईएएस कानपुर सर्विस एक्सीलेंस अवॉर्ड आदि प्राप्त किए हैं। प्रो यादव ने शरीर क्रिया पर पांच पुस्तकें लिखी है। जो आयुर्वेद छात्रों के कोर्स में है, रिसर्च स्कॉलर्स और अध्यापकों के लिए मार्गदर्शन का कार्य करती है। प्रो यादव के 100 से ज्यादा रिसर्च पत्र विभिन्न पत्र पत्रिकाओं में अब तक प्रकाशित हो चुके हैं।

80 से ज्यादा आयुर्वेद पर व्याख्यान दिए हैं, जिसमें बिड़ला आडिटोरियम में राजस्थान ट्रैवल मार्ट में “आयुर्वेद मेडिकल टूरिज्म” पर दिया महत्वपूर्ण व्याख्यान भी है। एन आई ए मीडिया प्रभारी प्रो राकेश नागर ने बताया कि प्रो यादव आयुर्वेद को जन-जन तक पहुंचाने व आयुर्वेद से लोगों को स्वस्थ करने के लिए जैसलमेर, जालौर, अजमेर, अलवर, सीकर, बूंदी, जयपुर आदि के ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में कैंप लगाकर सेवाएं देते रहते हैं। जनशक्ति विकास फाउंडेशन के अध्यक्ष और आज मीडिया सर्विस के प्रधान संपादक वरिष्ठ पत्रकार वी. बी. जैन ने प्रो यादव को बधाई देते हुए कहा कि प्रो यादव राजस्थानी भाषा के लिए भी काफी समर्पित है।

राष्ट्रीय आयुर्वेद एक्सपो 2021 में प्रो यादव ने बहुत ही कम समय में आयुर्वेद एक्सपो में राजस्थानी भाषा की प्रमुख एकमात्र मासिक पत्रिका माणक के सानिध्य में आयुर्वेद डॉक्टरों के लिए राजस्थानी भाषा की उपयोगिता पर गोष्ठी कराई। जिसमें राजस्थानी भाषा के प्रसिद्ध कवि किशोर जी पारीक किशोर ने भी भाग ले सैकड़ों लोगों के आकर्षण का केंद्र बनाया, गोष्ठी का राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान के कुलपति प्रो संजीव शर्मा और विशिष्ठ अतिथियों ने भी लाभ लिया। प्रो यादव को एन आई ए चांसलर प्रो शर्मा, प्रो बनवारीलाल गौड़, प्रो मीता कोटेचा, प्रो रामकिशोर जोशी, एमेरिटस प्रो ओपी शर्मा, डॉ सारिका यादव सहित कई आयुर्वेद विशेषज्ञों और विद्यार्थियों ने बधाइयां दी।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

25,000FansLike
15,000FollowersFollow
100,000SubscribersSubscribe

Amazon shopping

- Advertisement -

Latest Articles