July 15, 2024, 11:18 pm
spot_imgspot_img

आर आर काबेल लिमिटेड का आईपीओ खुलेगा 13 सितंबर को

  • ₹5 अंकित मूल्य वाले हर इक्विटी शेयर का मूल्य दायरा ₹983 से ₹1,035 तय किया गया है
  • इक्विटी शेयरों के अंकित मूल्य के मुकबले फ्लोर प्राइस 196.60 गुना है और कैप प्राइस इसका 207.00 गुना है
  • कर्मचारी आरक्षण खंड में बोली लगाने वाले पात्र कर्मचारियों को प्रति इक्विटी शेयर ₹ 98 की छूट की पेशकश की जा रही है
  • बोली/प्रस्ताव, बुधवार, 13 सितंबर, 2023 को खुलेगी और शुक्रवार, 15 सितंबर, 2023 को बंद होगी। एंकर निवेशक बोली की तारीख, मंगलवार, 12 सितंबर, 2023 होगी
  • न्यूनतम 14 इक्विटी शेयरों के लिए और उसके बाद 14 इक्विटी शेयरों के गुणकों में बोलियां लगाई जा सकती हैं
  • आरएचपी लिंक: https://www.axiscapital.co.in/wp-content/uploads/R-R-Kabel-Limited-RHP.pdf

जयपुर। आर आर काबेल लिमिटेड (“कंपनी”), बुधवार, 13 सितंबर, 2023 को इक्विटी शेयरों की अपना आईपीओ (इनिशियल पब्लिक ऑफर- प्रारंभिक सार्वजनिक पेशकश) खोलेगी। ऑफर में ₹180 करोड़ रुपये (₹1,800 मिलियन) तक के इक्विटी शेयरों का एक फ्रेश इशू और 17,236,808 इक्विटी शेयर तक का ऑफर फॉर सेल शामिल है (“ऑफर फॉर सेल” और फ्रेश इशू के साथ, “आईपीओ”) जिसके तहत मौजूदा शेयरधारकों की हिस्सेदारी बेची जाएगी ।

इस ऑफर में ₹10.8 करोड़ (₹108 मिलियन) तक के इक्विटी शेयरों का आरक्षण भी शामिल है जो 6 सितंबर 2023 (“आरएचपी”) मुंबई, महाराष्ट्र में कंपनी रजिस्ट्रार के पास दायर रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस में वर्णित तरीके से कंपनी के कुछ पात्र कर्मचारियों (“कर्मचारी आरक्षण खंड”) के लिए आनुपातिक आधार पर आवंटन के लिए उपलब्ध होगा। कर्मचारी आरक्षण खंड में बोली लगाने वाले पात्र कर्मचारियों को प्रति इक्विटी शेयर ₹98 की छूट की पेशकश की जा रही है। कर्मचारी आरक्षण खंड को घटाने ने बाद यह ऑफर “नेट ऑफर” है।

एंकर निवेशक बोली की तारीख, मंगलवार, 12 सितंबर, 2023 होगी। ऑफर, अभिदान (सब्सक्रिप्शन) के लिए बुधवार, 13 सितंबर, 2023 को खुलेगा और शुक्रवार, 15 सितंबर, 2023 को बंद होगा। ऑफर का प्राइस बैंड ₹983 से ₹1,035 प्रति इक्विटी शेयर तय किया गया है। न्यूनतम 14 इक्विटी शेयरों के के लिए और उसके बाद 14 इक्विटी शेयरों के गुणकों में बोली लगाई जा सकती है।

कंपनी फ्रेश इश्यू के ज़रिये जुटाई गई राशि का उपयोग, बैंकों और वित्तीय संस्थानों से लिए गए उधार के पूर्ण या आंशिक भुगतान या पूर्व भुगतान के लिए करेगी, जो अनुमानित तौर पर ₹ 136 करोड़ (₹ 1,360 मिलियन) है; और शेष राशि सामान्य कॉर्पोरेट उद्देश्यों के लिए होगी।
ऑफर फॉर सेल में महेंद्रकुमार रामेश्वरलाल काबरा के 754,417 इक्विटी शेयर; हेमंत महेंद्रकुमार काबरा द्वारा 754,417 इक्विटी शेयर; सुमीत महेंद्रकुमार काबरा के 754,417 इक्विटी शेयर; काबेल बिल्डकॉन सॉल्यूशंस प्राइवेट लिमिटेड के 707, 200 इक्विटी शेयर, राम रत्न वायर्स लिमिटेड के 1,364,480 इक्विटी शेयर, और टीपीजी एशिया VII एसएफ प्राइवेट लिमिटेड के 12,901,877 इक्विटी शेयर तक शामिल हैं जो “इन्वेस्टर सेलिंग शेयरहोल्डर” हैं।

इक्विटी शेयरों को आरएचपी के ज़रिये पेश किया जा रहा है और इन्हें बीएसई लिमिटेड (“बीएसई”) और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया लिमिटेड (“एनएसई”) जैसे मान्यता प्राप्त स्टॉक एक्सचेंजों (“स्टॉक एक्सचेंज”) पर सूचीबद्ध किया जायेगा। ऑफर से जुड़े प्रयोजनों के लिए, नामित स्टॉक एक्सचेंज बीएसई है।

यह ऑफर प्रतिभूति अनुबंध (विनियमन) नियम, 1957 के नियम 19(2)(बी) के अनुसार किया जा रहा है, जो संशोधित (“एससीआरआर”) तौर पर भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (पूंजी निर्गम एवं डिस्क्लोज़र अनिवार्यता) के विनियम 31 के साथ और विनियम, 2018 संशोधित (“सेबी आईसीडीआर विनियम”) से सम्बद्ध है। यह ऑफर, सेबी आईसीडीआर विनियमों के विनियमन 6(1) के अनुसार और बुक बिल्डिंग प्रक्रिया के ज़रिये किया जा रहा है, जिसमें पात्र संस्थागत खरीदारों (क्यूआईबी”, और ऐसा भाग, “क्यूआईबी का भाग”) को आनुपातिक आधार पर आवंटन के लिए नेट ऑफर के 50% से अधिक उपलब्ध नहीं होगा।

हमारी कंपनी और इन्वेस्टर सेलिंग शेयरहोल्डर, बुक रनिंग लीड मैनेजरों के परामर्श से, सेबी आईसीडीआर विनियम (“एंकर निवेशक भाग”) के अनुसार विवेकाधीन आधार पर, एंकर निवेशकों को क्यूआईबी हिस्से का 60% तक आवंटित कर सकते हैं। इनमें से कम से कम एक तिहाई, केवल घरेलू म्यूचुअल फंड में आवंटन के लिए उपलब्ध होगा, बशर्ते घरेलू म्यूचुअल फंड से एंकर निवेशक आवंटन मूल्य पर या उससे ऊपर वैध बोलियां मिलें। एंकर निवेशक भाग में कमतर अभिदान (अंडर-सब्सक्रिप्शन) मिलने, या गैर-आवंटन की स्थिति में, शेष इक्विटी शेयरों को नेट क्यूआईबी हिस्से में जोड़ा जाएगा।

इसके अलावा, नेट क्यूआईबी हिस्से का 5% केवल म्यूचुअल फंड के लिए, आनुपातिक आधार पर आवंटन के लिए उपलब्ध होगा, और नेट क्यूआईबी का शेष हिस्सा, म्यूचुअल फंड सहित एंकर निवेशकों के अलावा सभी क्यूआईबी के लिए आनुपातिक आधार पर आवंटन के लिए उपलब्ध होगा, जिनमें म्यूच्यूअल फंड शामिल होंगे, जो इस पर निर्भर करेगा कि वैध बोलियां, ऑफर प्राइस पर या उससे ऊपर हों। इसके अलावा, नेट ऑफर का कम से कम 15% गैर-संस्थागत बोलीदाताओं को आवंटन के लिए उपलब्ध होगा, जैसे: (ए) गैर-संस्थागत निवेशकों के लिए उपलब्ध हिस्से का एक-तिहाई हिस्सा, ₹ 2 लाख (₹0.20 मिलियन) से ₹ 10 लाख (₹1.00 मिलियन) तक से अधिक का आवेदन करने वाले आवेदकों के लिए आरक्षित होगा और (बी) गैर-संस्थागत निवेशकों के लिए उपलब्ध हिस्से का दो-तिहाई हिस्सा, ₹ 10 लाख (₹1.00 मिलियन) से अधिक का आवेदन करने वाले आवेदकों के लिए आरक्षित होगा, लेकिन किसी भी उप-श्रेणियों से ग़ैर अभिदान प्राप्त हिस्से को गैर-संस्थागत निवेशकों की अन्य उप-श्रेणी में आवेदकों को आवंटित किया जा सकता है, बशर्ते वैध बोलियां ऑफर प्राइस पर या उससे ऊपर हों।

इसके अलावा, सेबी आईसीडीआर विनियमों के अनुसार खुदरा व्यक्तिगत बोलीदाताओं (“आरआईबी”) को आवंटन के लिए नेट ऑफर का कम से कम 35% उपलब्ध होगा, बशर्ते वैध बोलियां ऑफर प्राइस पर या उससे ऊपर प्राप्त हों। साथ ही, कर्मचारी आरक्षण खंड के तहत आवेदन करने वाले पात्र कर्मचारियों को आनुपातिक आधार पर इक्विटी शेयर आवंटित किए जाएंगे, जो ऑफर प्राइस पर या उससे ऊपर प्राप्त वैध बोलियों पर निर्भर करेगा।

एंकर निवेशकों के अलावा सभी बोलीदाताओं के लिए अपने संबंधित बैंक खाते (यूपीआई बोलीदाताओं के मामले में यूपीआई आईडी (जैसा कि इसके बाद परिभाषित किया गया है) सहित) का विवरण प्रदान करके अवरुद्ध राशि (“एएसबीए”) प्रक्रिया द्वारा समर्थित एप्लिकेशन का अनिवार्य रूप से उपयोग करना आवश्यक है, जो ऑफर में भाग लेने के लिए एससीएसबी या प्रायोजक बैंकों द्वारा, जो भी लागू हो, अवरुद्ध किया जाना चाहिए। एंकर निवेशकों को एएसबीए प्रक्रिया के ज़रिये, एंकर निवेशक खंड में भाग लेने की अनुमति नहीं है। विवरण के लिए, आरएचपी के पृष्ठ 436 पर शुरू होने वाली “ऑफर प्रक्रिया” देखें।

एक्सिस कैपिटल लिमिटेड, सिटीग्रुप ग्लोबल मार्केट्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, एचएसबीसी सिक्योरिटीज एंड कैपिटल मार्केट्स (इंडिया) प्राइवेट लिमिटेड और जेएम फाइनेंशियल लिमिटेड, इस ऑफर के बुक रनिंग लीड मैनेजर हैं।
इस प्रेस विज्ञप्ति में उल्लिखित कैपिटल अक्षरों वाले शब्द, जिन्हें परिभाषित नहीं किया गया है, उनका वही अर्थ होगा जो आरएचपी में निर्धारित है।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

25,000FansLike
15,000FollowersFollow
100,000SubscribersSubscribe

Amazon shopping

- Advertisement -

Latest Articles