Dharam/शनि अमावस्या पर सूर्य पुत्र शनि की हुई आराधना

जयपुर। पौषकृष्ण माह शनिवार को छोटीकाशी में मूल नक्षत्र और धु्रवय योग के बीच शनिश्चरी अमावस्या चार ग्रहों के योग में मनाई गई। इस दौरान शनि मंदिरोंं में सुबह से विशेष कार्यक्रम के साथ ही शनि महाराज की फूल बंगला झांकी सजाई गई, तेलाभिषेक हुई और दिनभर दान-पुण्य का दौर रहा।

0
62
Shani Amavasya 2019
Shani Amavasya 2019

Dharam/जयपुर। पौषकृष्ण माह शनिवार को छोटीकाशी में मूल नक्षत्र और धु्रवय योग के बीच शनिश्चरी अमावस्या चार ग्रहों के योग में मनाई गई। इस दौरान शनि मंदिरोंं में सुबह से विशेष कार्यक्रम के साथ ही शनि महाराज की फूल बंगला झांकी सजाई गई, तेलाभिषेक हुई और दिनभर दान-पुण्य का दौर रहा।

शहर के शनि मंदिरों में सुबह से ही भक्तों की कताई नजर आई। लोगों ने शनि देव की कृपा पाने के लिए शनि मंदिरों में तेल, काला व नीला कपडा ,उड़द दाल , काले तिल , लौहे की वस्तुए चढ़ा कर सुख शांति की कामना की । वहीं इस दौरान शनि मंदिरों में शाम को पौषबड़ा महोत्सव का आयोजन भी हुआ।

दान-पुण्य का दौर रहा

धनु मलमास की शनिश्चरी अमावस्या होने से धार्मिक नगरी में सुबह से ही तीर्थ स्थलोें पर स्नान,दान -पुण्य का दौर चला। जानकारी के अनुसार लोग प्रात: गलता में स्नान किया । वहीं गायों को हरा चारा और गुड़ व चने की दाल खिलाई तो कई लोग बंदरों को फल चने खिलाते दिखे। वहीं कई लोगों ने जरूरतमदों को कपड़े ,कम्बल व राशन सामग्री दान की।

वहीं गोविंददेव जी मन्दिर में सहित शहर के अन्य मन्दिरों में अन्य मन्दिरों में श्रद्धालुओं की भीड़ रही। श्रद्धालुओं ने पितृ दोष की शांति, शनि की ढैया एंच साढ़े सात की शांति के लिए शनि ग्रह के मंत्रों का जाप और शनि से संबधित वस्तुओं जैसे काला वस्त्र, काले तिल, उड़द की दाल, लौहे का सामान, छतरी, जूते, कंबल,सरसों का तेल, आदि का दान किया। शनि मंदिर में शनि चालीसा , हनुमान चालीसा आदि के पाठ भी किए गए।

लगा रहा भक्तों का तांता

शनिश्चरी अमावस्या के अवसर पर जनता स्टोर स्थित शनि मंदिर में मंहत नारायण शर्मा के सानिध्य में सुबह सात बजे से दोपहर 12 बजे तक तेलाभिषेक किया गया । इसके बाद शनिदेव को नवीन पोशाक धारण करवा कर फूल बंगले में विराजित किया गया। गेटोर स्थित शनि साई धाम में मंहत ब्रजमोहन शर्मा के सानिध्य में बड़ी संख्या में लोगों ने शनिदेव का तेलाभिषेक कर सुख शांति की कामना की गई।

वहीं एसएमएस स्थित शनि मंदिर में पंड़ित भगवती प्रसाद के सानिध्य में तेलाभिषेक किया गया। बांसबदनपुरा स्थित प्राचान शनि मंदिर ,सिंधी कैंप स्थित शनि , सोड़ाला स्थित प्राचीन शनि मंदिर, श्याम नगर स्थित शनि मन्दिर सहित शहर के सभी शनि मंदिरों में भगवान शनि का तेलाभिषेक हुआ। इसके बाद सभी शनि मंदिरों में भगवान शनि को नवीन पोशाक पहनाई और श्रृंगार किया गया तो कही मंदिरों में महाआरती भी की गई।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here