सिरफिरे ने राह चलते आधा दर्जन लोगों पर किया चाकू से हमला, एक की मौत

जयपुर। शाहपुरा थाना इलाके में एक सिरफिरे युवक ने सरकारी हॉस्पिटल के बाहर खड़े लोगों पर चाकू से हमला कर दिया। युवक ने एक के बाद एक कर छह लोगों को घायल कर दिया है। हमले से घायल एक युवक की मौत हो गई। इसके बाद गुस्साएं लोगों ने आरोपी की जमकर धुनाई कर दी। गुस्साई भीड़ को समझाने पहुंची पुलिस भी जनता का कोपभाजन बन गई। लोगों ने पुलिस से मारपीट कर डाली। भीड़ का गुस्सा यहीं पर शांत नहीं हुआ, भीड़ ने घायल आरोपी का जहां पर इलाज किया जा रहा था वहां पर भी तोड़फोड़ कर दी। इसके बाद ग्रामीणों ने नीमकाथाना स्टेट हाइवे जाम कर दिया और बाजार बंद करवा दिया। सूचना पर पूर्व विधायक इंद्राज गुर्जर मौके पर पहुंचे और लोगों को समझा-बुझाकर शांत किया।

थानाधिकारी रामलाल मीणा ने बताया कि हमलावर युवक मनोज सैनी शाहपुरा का रहने वाला है और नशे का आदी है। पुलिस ने घटना से एक दिन पहले (गुरुवार) ही शांतिभंग के मामले में पकड़ा था। शुक्रवार को उसे जमानत मिली थी। इसके बाद रात को वह चाकू लेकर सरकारी हॉस्पिटल पहुंच गया। उसने यहां से गुजर रहे लोगों पर हमला कर दिया। अचानक हुई चाकूबाजी की घटना से भीड़ भरे इलाके में अफरा-तफरी मच गई। लोग डर के कारण इधर-उधर भागने लगे।

ग्रामीणों ने जैसे-तैसे सिरफिरे युवक को पकड़ा और उसकी धुनाई कर दी। मौके पहुंची पुलिस के साथ भी लोगों की झड़प हो गई। पुलिस ने बड़ी मुश्किल से आरोपी युवक को लोगों के बीच निकाला। आरोपी युवक व हमले में घायल सुनील (35), मुनान (45), शाहरुख (30), नजमू (35) व मोहन (23) को शाहपुरा के सरकारी हॉस्पिटल में भर्ती कराया था। जहां से घायल आरोपी मनोज व अन्य सभी को जयपुर रेफर किया गया। हालांकि घायल मोहन, निवासी छापुड़ा (शाहपुरा) की स्थिति बिगड़ने पर उसे निम्स हॉस्पिटल में ही एडमिट कराया गया। जहां उसकी देर रात मौत हो गई। जानकारी के अनुसार मोहन लाल निजी फाइनेंस कंपनी में काम करता था। शुक्रवार रात को वह अपने पिता बिरजू सिंह को हॉस्पिटल में दिखाने आया था।

थानाधिकारी रामलाल मीणा ने बताया कि आरोपी युवक मनोज सैनी नशे का आदी है। 9 मई को शाहपुरा बाजार में एक चाय की दुकान पर तोड़फोड़ करने के बाद पुलिस ने मौके से शांतिभंग में गिरफ्तार किया गया था। आरोपी युवक के बारे में और जानकारी जुटाई जा रही है। वहीं, चाकूबाजी की घटना के बाद से शाहपुरा के लोगों को काफी गुस्सा है। घटना शाहपुरा की शुक्रवार रात करीब 10 बजे की है। आक्रोशित ग्रामीणों ने शनिवार सुबह करीब 11 बजे नीमकाथाना स्टेट हाईवे को जाम कर दिया।

कस्बे का एक बाजार भी बंद कराया गया है। सरकारी हॉस्पिटल के बाहर धरने पर बैठे ग्रामीण मृतक के परिजनों को मुआवजा और आरोपी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। हाईवे के दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतार लग गई थी। घटना के बाद ग्रामीणों ने अजीतगढ़ रोड को जाम करने की कोशिश की। शाहपुरा थाना प्रभारी मय जाप्ते के मौके पर पहुंचे और ग्रामीणों से समझाइश की। इस बीच कुछ ग्रामीणों ने पुलिस वालों के साथ मारपीट भी कर दी।

माहौल गर्माता देख मनोहरपुर,अमरसर पुलिस थाने से भी जाब्ता मौके पर पहुंचा। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है। शाहपुरा सीएचसी के सामने ही धरने पर बैठ गए। मृतक के परिजनों को मुआवजा और आरोपी के खिलाफ सख्त कार्रवाई और शाहपुरा में नशे के कारोबार को बंद करने की मांग कर रहे हैं। हाईवे के दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतार लगी हुई है। नाराज लोगों ने सरकारी हॉस्पिटल के एरिया में एक बाजार भी बंद कराया गया है।

पिता को दवा दिलाने आया था अस्पताल

मोहन प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने के साथ निजी फाइनेंस कंपनी में काम करता था। शुक्रवार को पिता बिरजू सिंह के बुखार व उल्टी दस्त होने पर हॉस्पिटल में दवाई दिलाने आया था। जहां भर्ती कराने के बाद किसी काम से बाहर आया था तभी सिरफिरे युवक ने नीचे गिराकर चाकू से हमला कर दिया। पिता बिरजू सिंह सवारी जीप चलाते हैं।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

25,000FansLike
15,000FollowersFollow
100,000SubscribersSubscribe

Amazon shopping

- Advertisement -

Latest Articles