ब्लैक में टिकट बेचने वालों ने सटोरियों को ठगा

जयपुर। ज्योति नगर थाना पुलिस ने एसएमएस स्टेडियम में सट्टे की खाईवाली करते गिरफ्तार सटोरिये की शिकायत पर कॉम्प्लिमेंट्री पास (फ्री पास) बेचने वालों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। ज्योति नगर थाना पुलिस ने 6 अप्रैल को स्टेडियम में मैच के दौरान सट्टे की खाईवाली करने वाले 3 युवकों को गिरफ्तार किया था। इन सटोरियों ने 25 हजार रुपए में कॉम्प्लिमेंट्री पास खरीदा था। अब इन सटोरियों की शिकायत पर पुलिस ने कॉम्प्लिमेंट्री पास बेचने वालों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली।

सटोरिये महेंद्र सिंह निवासी दासा की ‎ढाणी उद्योग नगर सीकर ने रिपोर्ट में बताया कि 6 अप्रैल को एसएमएस स्टेडियम में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलुरु बनाम राजस्थान रॉयल के बीच आईपीएल का मैच था। उसके साथ उसके दोस्त विक्रम चौधरी निवासी गांव ‎गोठडा भुखरान तहसील धोद (सीकर) और विजयपाल इस मैच को देखने के लिए काफी उत्साहित थे। इस मैच के टिकट ऑनलाइन और ऑफलाइन खरीदने की कोशिश की थी, लेकिन हमें टिकट नहीं मिला। इस पर हमने मुफ्त पास की व्यवस्था करनी चाही, लेकिन वह भी नहीं मिले। इस दौरान महेंद्र को पता चला कि नरेंद्र सिंह टिकट की व्यवस्था करवा देगा तो हमने नरेंद्र सिंह से संपर्क किया।

उसने शाम 6 बजे एसएमएस स्टेडियम के नॉर्थ गेट पर मिलने बुलाया। यहां उसने बताया कि उसके पास 3 टिकट है, जिसकी कीमत 75 हजार रुपए (25 हजार प्रति टिकट) है। हमने उससे तीनों टिकट खरीद लिए और उसके कहे अनुसार रुपए दे दिए। हम टिकट लेकर स्टेडियम में चले गए। यहां अजमेर रूफ टॉप पर बैठकर मैच का आंखों देखा हाल बताकर मोबाइल के जरिए सट्टा लगवा रहे थे। इसी दौरान पुलिस ने तीनों को पकड़ लिया। सटोरिये महेन्द्र सिंह ने बताया कि उसकी जानकारी में आया कि नरेन्द्र ने हमें जो 3 टिकट दिए थे, वो अजमेर रूफ टॉप सिटिंग के कॉम्प्लिमेंट्री पास थे, जिनको बेचना अपराध है। नरेंद्र ने हमें धोखे में रखकर कॉम्प्लिमेंट्री पास बेचकर धोखाधड़ी की है। कॉम्प्लिमेंट्री पास बेचने वाली कोई बड़ी गैंग सक्रिय है, जिसकी कड़ी नरेंद्र है। इस पर ज्योति नगर थाना पुलिस ने नरेंद्र के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है और जांच में जुटी है।


राजस्थान रॉयल्स हर मैच में देता है कॉम्प्लिमेंट्री पास

राजस्थान रॉयल्स यह कॉम्प्लिमेंट्री पास खेल विभाग, ब्यूरोक्रेट्स, निगम के अधिकारियों-कर्मचारियों और व्यापारियों को देता है। इसका वह कोई पैसा चार्ज नहीं करता है। यह पास राजस्थान रॉयल्स हर मैच में देता है, जिसकी संख्या करीब 5 हजार से ज्यादा हैं। राजस्थान रॉयल्स के पास इसकी पूरी जानकारी रहती है कि कौनसे सीरियल नंबर का पास किसे जारी किया गया था। पुलिस की जांच में सामने आ पाएगा कि जो पास बाजार में 25 हजार रुपए में बेचे जा रहे हैं, वो किसको जारी किए गए थे।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

25,000FansLike
15,000FollowersFollow
100,000SubscribersSubscribe

Amazon shopping

- Advertisement -

Latest Articles