सुरंग खोदकर बैंक और ज्वेलरी शॉप लूट योजना का मामला: पचास हजार के इनामी दो बदमाश गिरफ्तार

जयपुर। अम्बाबाड़ी में सुरंग बनाकर दो बैंक और एक ज्वेलरी शॉप लूटने की योजना बनाने के मामले में पुलिस ने 10 दिन बाद पचास हजार के इनामी दो बदमाशों को दबोच लिया। इन बदमाशों के छिपने में मदद करने वाले दो सहयोगियों को भी गिरफ्तार किया गया है। इन सभी बदमाशों को मुम्बई के धारावी से पकड़ा गया है।

पुलिस उपायुक्त जयपुर उत्तर राशि डोगरा ने बताया कि गिरफ्तार रिजवान उर्फ अरबाज उर्फ रिजवान खान उर्फ मोहम्मद रिजवान उर्फ मनोज उर्फ सोनू पुत्र एजाज वली उर्फ एजाज अहमद उर्फ फरियाद निवासी कटरा चांद खान ओल्डर सिटी बरेली उत्तर प्रदेश और 40 वर्षीय सलीम उर्फ पप्पू पुत्र अख्तर अली निवासी खुशबू कॉलोनी फहम लॉन मैरिज हॉल वाली कॉलोनी बरेली उत्तर प्रदेश पर 25-25 हजार रुपए का इनाम घोषित किया गया था।

दोनों बदमाश फर्जी दस्तावेज बनाने में माहिर है। इनका सहयोग करने के मामले में 40 वर्षीय राशिद हुसैन अबरार हुसैन अंसारी उर्फ इस्माइल उर्फ हयात पुत्र अबरार हुसैन बोरी मदरसा आई ब्लॉक जोगेश्वरी ईस्ट मुम्बई एवं यूपी निवासी 25 अमन खान चिश्ती उर्फ बाबा खान को अरेस्ट किया गया है। बदमाश अपनी पहचान छुपाने के लिए निकनेम का उपयोग करते थे। यहां तक की आपस में भी निकनेम से ही बात करते थे।

बदमाशों ने पुलिस से बचने के लिए लगातार अपना ठिकाने बदलते रहे। घटना के बाद घर न जाकर आगरा, दिल्ली, कोटा, उन्नव, सूरत, वडोदरा, अहमदाबाद और मुम्बई में छिप गए। आरोपियों के पास से तीन मोबाइल और 10 सिम कार्ड मिले है। बदमाश पिछले एक साल से करोड़ों रुपए की डकैती करने की योजना बना रहे थे।

पुलिस उपायुक्त जयपुर उत्तर ने बताया कि बदमाशों ने यू ट्यूब और अन्य सोशल साइटस पर कई क्राइम सीरियल देखकर पुलिस द्वारा बदमाशों के पकड़ने की प्रक्रिया सहित अन्य कई महत्वपूर्ण ज्ञान पहले अर्जित किया। बदमाशों ने क्राइम पेट्रोल सीरियल देखकर जल्द करोड़पति बनने के लिए इस घटना को अंजाम देने की योजना बनाई थी। बदमाश पुलिस से बचने के लिए स्वयं के निजी नंबर घटनास्थल व निवास स्थान पर इस्तेमाल नही करते थे घटनास्थल से करीब 15-20 किलोमीटर दूर जाकर निजी फोन से परिजनों से बात कर वहीं पर फोन बंद कर लेते थे।

घटना स्थल पर उपयोग में लिए गए मोबाइल नम्बर दूसरे लोगों के नाम से जारी करवाए गए थे। गिरफ्तार रिजवान पूर्व में बैंक में केवाईसी का काम करता था। इस दौरान आने-जाने वाले ग्राहकों के कागजात से बदमाशों ने कई सिम जारी करवा कर खुद और साथियों को दे दी। बदमाशों ने मौज मस्ती करने और चंद दिनों के करोड़पति बनने के लिए इस घटना को अंजाम दिया। मुख्य सुत्रधार रिजवान ने लाखों रुपए देने और जल्दी अमीर होने का लालच देकर अन्य साथियों को सुरंग खोदने के लिए बुलाया था।

रिजवान के खिलाफ पहले से 6 आपराधिक प्रकरण दर्ज है। गौरतलब है कि विधाधर नगर क्षेत्र में 23 जनवरी को अंबाबाड़ी सब्जी मंडी में एसबीआई बैंक के पास सुरंग खोदकर पास के बैंक व ज्वेलरी की दुकानों में डकैती की तैयारी करने की वारदात को अंजाम देने की योजना एक आलू के ट्रक के धंसने के कारण फेल हो गई थी। मामले में एक आरोपी को दबोच लिया गया था जबकि उसके कुछ साथी फरार हो गए थे। बदमाशों ने सुरंग में मिट्टी को ढहने से रोकने के लिए बल्ली फंटो का उपयोग किया था। सुरंग का एक छोर अमानीशाह नाला की तरफ व दूसरा छोर एसबीआई बैंक अंबाबाड़ी विद्याधर नगर जयपुर की तरफ जा रहा था।

झपट्टा मार कर मोबाइल छीन भागे बदमाश

जवाहर सर्किल थाना इलाके में बाइक सवार दो बदमाश एक युवक से हाथ पर झपट्टा मार कर मोबाइल छीनकर ले गए। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच में जुटी है। पुलिस के अनुसार दुर्गापुरा निवासी गिर्राज अग्रवाल ने मामला दर्ज करवाया कि वह बाजार जा रहा था। ग्रीन नगर 60 फीट रोड पर पीछे से बाइक सवार दो बदमाश आए और उसके हाथ पर झपट्टा मार कर मोबाइल छीनकर ले गए।

इस अप्रत्याशित घटना में वह कुछ समझ पाता तब तक बदमाश तेज गति से बाइक चलाते हुए गलियों में ओझल हो गए। इस पर पीडित ने थाने पर पहुंच कर शिकायत दी। पुलिस ने मामला दर्ज कर घटना स्थल और उसके आस-पास के सीसीटीवी फुटेज खंगालना शुरू कर दिया है।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

25,000FansLike
15,000FollowersFollow
100,000SubscribersSubscribe

Amazon shopping

- Advertisement -

Latest Articles