CBDT ने टाइम-सीरीज डेटा के माध्यम से प्रत्यक्ष कर संबंधी आंकड़े जारी किए

नई दिल्ली। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) प्रत्यक्ष करों के संग्रह और संचालन से संबंधित प्रमुख आंकड़े समय-समय पर सार्वजनिक रूप से जारी करता रहा है। अधिक से अधिक जानकारियां सार्वजनिक रूप से उपलब्‍ध कराने के अपने प्रयासों को जारी रखते हुए सीबीडीटी ने ‘समेकित टाइम-सीरीज डेटा’ जारी किया है जिसे वित्त वर्ष 2022-23 तक अपडेट किया गया है।

इनमें से कुछ आंकड़ों की मुख्य बातें इस प्रकार हैं:

प्रत्यक्ष करों का शुद्ध संग्रह वित्त वर्ष 2013-14 के 6,38,596 करोड़ रुपये से 160.52% बढ़कर वित्त वर्ष 2022-23 में 16,63,686 करोड़ रुपये हो गया है। वित्त वर्ष 2022-23 में 19,72,248 करोड़ रुपये के सकल प्रत्यक्ष कर संग्रह ने वित्त वर्ष 2013-14 के 7,21,604 करोड़ रुपये के सकल प्रत्यक्ष कर संग्रह की तुलना में 173.31% से भी अधिक की वृद्धि दर्ज की है। प्रत्यक्ष कर-जीडीपी अनुपात वित्त वर्ष 2013-14 के5.62% से बढ़कर वित्त वर्ष 2022-23 में 6.11% हो गया है। कर संग्रह की लागत वित्त वर्ष 2013-14 में कुल संग्रह के 0.57% से घटकर वित्त वर्ष 2022-23 में कुल संग्रह का 0.51% हो गई है।

वित्त वर्ष 2022-23 में दाखिल किए गए आईटीआर की कुल संख्या 7.78 करोड़ है, जो वित्त वर्ष 2013-14 में दाखिल किए गए कुल 3.80 करोड़ आईटीआर की तुलना में 104.91% की वृद्धि दर्शाती है। सार्वजनिक रूप से टाइम-सीरीज डेटा की उपलब्धता भारत में प्रत्यक्ष करों के संचालन की प्रभावशीलता और दक्षता के विभिन्न सूचकांकों के दीर्घकालिक रुझानों का अध्ययन करने में शिक्षाविदों, अनुसंधान विद्वानों, अर्थशास्त्रियों और आम जनता के लिए काफी उपयोगी साबित होगी। यह टाइम सीरीज डेटा www.incometaxindia.gov.in पर उपलब्ध है।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

25,000FansLike
15,000FollowersFollow
100,000SubscribersSubscribe

Amazon shopping

- Advertisement -

Latest Articles