जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल : साहित्यिक चर्चा की बौछार

जयपुर। जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल के चौथे दिन की शुरुआत डॉ. कमला शंकर की खूबसूरत संगीतमय प्रस्तुति के साथ हुई। डॉ. शंकर ने हिंदुस्तानी शास्त्रीय संगीत की मधुर प्रस्तुति से दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। उनके संगीत ने रविवार की बरसात की सुबह को कुछ और सुहाना बना दिया।

टीमवर्क आर्ट्स और उनके लंबे समय से पार्टनर ब्रिटिश काउंसिल ने भारत-यूके 2030 रोडमैप के अनुरूप भारत और यूके के बीच कलात्मक सहयोग और नेटवर्क को मजबूत करने के लिए एक मेमोरेंडम तैयार किया| इस पार्टनरशिप का उद्देश्य ज्ञान के आदान-प्रदान को सुविधाजनक बनाना, कलाकारों और संस्कृतियों को जोड़ना और वैश्विक स्तर पर अपने नेटवर्क का विस्तार करना है।

जेएलएफ स्पेन वलाडोलिड के दूसरे संस्करण की आधिकारिक तारीखों की घोषणा सैमसंग गैलेक्सी टैब एस9 सीरीज जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल 2024 के दौरान हुई| यह फेस्टिवल 30 मई से 3 जून, 2024 में आयोजित होगा| घोषणा के बाद, संस्कृति उप मंत्री और आयुक्त स्पैनिश भाषा, मार सांचो सान्ज़ ने दर्शकों को संबोधित किया।

वाणी प्रकाशन बुक्स और टीमवर्क आर्ट्स ने संस्कृत से स्पेनिश में अनुवाद के लिए इस वर्ष का वाणी फाउंडेशन डिसटिंगुइश्ड ट्रांसलेटर अवार्ड से ऑस्कर पुजोल को सम्मानित किया| पुजोल ने बनारस हिंदू विश्वविद्यालय से संस्कृत में डॉक्टरेट की उपाधि प्राप्त की और उनका भारत के साथ जीवन भर जुड़ाव रहा है। वह नई दिल्ली और रियो डी जनेरियो के सर्वान्तेस इंस्टीट्यूट के निदेशक और कासा एशिया के शैक्षिक कार्यक्रमों के निदेशक रहे हैं। वह कई पुस्तकों के लेखक और अनुवादक हैं।

सत्र ‘कॉमन येट अनकॉमन’ में श्रोताओं ने जोरदार तालियों के साथ लोकप्रिय लेखिका, समाज कार्यकर्त्ता और स्नेही व्यक्तित्व सुधा मूर्ति का स्वागत किया| सत्र के शुरू में उन्होंने बताया कि वो एक जिज्ञासु बच्ची थीं, जो अपने आस-पड़ोस की सारी बातें जानना चाहती थीं| उन्होंने कहा, “मैं बस लोगों के बारे में ज़्यादा से ज़्यादा जानना चाहती हूँ, वे कहाँ से आये हैं, क्या करते हैं वगैरह… क्योंकि मेरे लिए कोई इंसान सिर्फ इंसान नहीं है, वो एक किताब है और ऐसी ज्यादा से ज्यादा किताबें पढ़ना चाहती हूँ|” मूर्ति ने अपनी किताब, ‘कॉमन येट अनकॉमन’ के जरिये अपने बचपन और स्मालटाउन परवरिश व माहौल के बारे में बताया।

सत्र ‘टाइम शेल्टर’ में इंटरनेशनल बुकर 2023 से सम्मानित लेखक गोर्गी गोस्पोदिनोव ने अपने किताब और लेखन पर बात की| उन्होंने कहा, “समस्या तब होती है, जब कोई पूरे देश के अतीत की खुशनुमा यादें बनाने की कोशिश करता है| ये बहुत खतरनाक है| अतीत एक निजी अनुभव है… देखा जाए तो ये अतीत गढ़ा गया अतीत है, और इसीलिए यह खतरनाक है। जब उनसे पूछा गया कि उन्होंने अपनी किताब में अलग-अलग देशों के लिए सबसे सुखद दशकों को कैसे चुना, तो उन्होंने गंध और संगीत का उल्लेख करते हुए उन्हें “स्मृति के महान अनलॉकर” कहा। गोस्पोदिनोव ने अपने दादा-दादी के साथ बड़े होने के समय को भी बड़े प्यार से याद किया, जिन्होंने उनमें रचनात्मकता और कल्पना की भावना पैदा की, “यदि आप रोजमर्रा की चीजों में, साधारण चीजों में उत्कृष्टता पा सकते हैं, तो आप सुरक्षित हैं।”

सत्र ‘हॉलीवुड टू हिमालयाज’ की शुरुआत में भगवती सरस्वती ने अपने बचपन और बेवर्ली हिल्स, कैलिफोर्निया में बीते समय को याद किया| उन्होंने कहा कि उन दिनों में उन्हें एक बेचैनी रहती थी, जिसने आख़िरकार उन्हें साध्वी बनने के लिए प्रेरित किया| उन्होंने गंगा किनारे बिताए शुरुआती दिनों और अपने आसपास महसूस की गई दिव्यता को याद किया| अपनी किताब के माध्यम से भगवती सरस्वती ने अपने अनुभव को लोगों के लिए उपलब्ध कराया है| उनकी किताब में हॉलीवुड से हिमालय तक के सफ़र का वर्णन है| सत्र के अंत में उन्होंने श्रोताओं को गाइडेड मैडिटेशन का अभ्यास कराया।

‘द गोल्डन मोल’ सत्र में प्रसिद्ध लेखिका कैथरीन रुंडेल की किताब, द गोल्डन मोल: एंड अदर लीविंग ट्रेजर पर चर्चा हुई| इस किताब में कैथरीन ने इस दुनिया के दूसरे इंटेलीजेंट जीवों की बात की है| इस संदर्भ में, उन्होंने कहा, “मानवता का सबसे बड़ा झूठ यही है कि ये संसार सिर्फ हमारा है|” इस किताब के पीछे उनका मकसद इस धरती की दूसरी प्रजातियों के बारे में बात करना ही है| पांडा, हाथी, गेंडे से लेकर उन्होंने श्रोताओं को प्रकृति के कई अपेक्षित रहस्यों के बारे में बताया| सत्र का अंत उन्होंने इसी बात से किया कि दुनिया को इन प्रजातियों के बारे में और ज्यादा जानने की जरूरत है।

सत्र ‘एम्पायर ऑफ़ पेन’ का नाम पैट्रिक रैडेन कीफ की बैली गिफोर्ड से सम्मानित किताब के नाम पर पड़ा| इस किताब को उन्होंने 1990 के दशक में संयुक्त राज्य अमेरिका को पंगु बनाने वाले ओपिओइड हेल्थ क्राइसिस से प्रेरित होकर लिखा है| उन्होंने दर्शकों को नरम भ्रष्टाचार और निजी धन की भयावहता और फार्मास्यूटिकल्स सहित किसी भी उद्योग पर पड़ने वाले व्यापक प्रभाव से अवगत कराया। संकट को “पारिवारिक गाथा” के रूप में संदर्भित करते हुए, कीफ ने कहा, “… यह एक परिवार था जिसने वास्तव में इस संकट को पैदा करने में मदद की थी, जो सैकड़ों हजारों लोगों की जान ले चुका था। मुझे हमेशा नैतिक सवालों और परिवारों की कहानियों में दिलचस्पी रही है और यही चीज़ मुझे आकर्षित करती है।”

‘फर्स्ट एडिशन’ सत्र में अकादमिक और लेखक, इंद्रजीत रॉय की नई किताब ‘ऑडेशियस होप: हाउ टू सेव ए डेमोक्रेसी’ का परिचय देते हुए, संसद सदस्य और लेखक, शशि थरूर ने भारतीय लोकतंत्र की वर्तमान स्थिति और भविष्य के लिए उनकी आशाओं के बारे में गहन चर्चा की। आज के राजनीतिक क्षेत्र में असहमति और विरोध की भूमिका के बारे में बात करते हुए, रॉय ने कहा, “सरकारों का गुणगान करने से बेहतर है प्रोटेस्ट का गुणगान करना|” हमारे देश की संस्थाओं के महत्व पर जोर देते हुए थरूर ने कहा, ”चुनाव ही काफी नहीं हैं| संस्थाएँ हमारे लोकतंत्र को शक्ति देती हैं… चाहे वह नई संस्थाएँ हों या पुरानी संस्थाएँ।

‘हाउ प्राइम मिनिस्टर डिसाइड?’ सत्र में पुरस्कार विजेता पत्रकार और अनुभवी राजनीतिक टिप्पणीकार नीरजा चौधरी की नई किताब, हाउ प्राइम मिनिस्टर्स डिसाइड स्वतंत्र भारत के छह प्रमुख प्रधानमंत्रियों के जीवन और निर्णयों पर प्रकाश डालती है। नेताओं के जीवन के प्रति सहानुभूति जताते हुए चौधरी ने कहा, “प्रधानमंत्री अकेले होते हैं, प्रधानमंत्री असुरक्षित होते हैं, प्रधानमंत्री अंधविश्वासी होते हैं, प्रधानमंत्री हर तरह के दबाव के अधीन होते हैं।”

‘द अर्थ ट्रांसफॉर्म: एन अनटोल्ड हिस्ट्री’ सत्र में, इतिहासकार और लेखक पीटर फ्रैंकोपैन ने अपनी किताब पर चर्चा की, जिसमें बताया गया है कि कैसे जलवायु परिवर्तन ने दुनिया को नाटकीय रूप से बदल दिया है। फ्रैंकोपैन ने इतिहास और सभ्यताओं में मौलिक भूमिका निभाने के बावजूद, प्रकृति की कमी, जैव विविधता की हानि और भूवैज्ञानिक गठन में जागरूकता की कमी के बारे में अपनी चिंता व्यक्त की। उन्होंने इतिहास के एक निश्चित प्रकार के विचार के बारे में बात की, जिसमें केवल मनुष्यों की कहानियाँ शामिल हैं, लेकिन उनके जीवन को प्रभावित करने वाले प्राकृतिक कारक नहीं, “हम सभी मौसम की स्थिति पर विचार किए बिना अतीत के बारे में सोचते रहते हैं…”।

सत्र ‘फायर बर्ड’ में 2023 जेसीबी साहित्य पुरस्कार विजेता पेरुमाल मुरुगन, प्रकाशक कन्नन सुंदरम और मानसी सुब्रमण्यम ने संवाद किया| फायर बर्ड लेखक के जीवन, विस्थापन और आंदोलन के अनुभव पर आधारित है। मुरुगन ने अपनी मां के साथ साझा किए गए घनिष्ठ संबंधों के बारे में बात की, जिससे उन्हें महिला जीवन के बारे में जानकारी प्राप्त करने में मदद मिली और उन्हें यह समझने में मदद मिली कि महिलाएं उनकी किताबों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। सुंदरम ने साझा किया कि मुरुगन की कृतियों का तमिल से अंग्रेजी में अनुवाद किया जाता है, जबकि संपूर्ण कार्य का अनुवाद करने की प्रक्रिया अपेक्षाकृत सुचारू रूप से चलती है, शीर्षकों का अनुवाद करना हमेशा एक चुनौती होती है क्योंकि शीर्षक स्थानीय तमिल सांस्कृतिक संदर्भों में निहित होते हैं।

‘इरफ़ान: ए लाइफ इन मूवीज’ सत्र में अभिनेता इरफान खान के शानदार काम और भारतीय सिनेमा पर उसके प्रभाव पर चर्चा हुई| नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा के दिनों से लेकर टेलीविजन में उनके लगभग एक दशक लंबे कार्यकाल और द नेमसेक, लाइफ ऑफ पाई, मकबूल और हिंदी मीडियम जैसी अग्रणी फिल्मों में उनके काम तक, इरफान की स्टारडम की विशेष गुणवत्ता उनके सभी दर्शकों को छूने में कामयाब रही है। फिल्म समीक्षक और लेखिका शुभ्रा गुप्ता की ‘इरफ़ान: ए लाइफ इन मूवीज़’ उनके समकालीन लोगों के साथ बातचीत और किंवदंती के साथ उनके समय की यादों का एक संग्रह है। उनकी पत्नी और थिएटर कलाकर सुतपा सिकदर और फिल्म निर्माता विशाल भारद्वाज के साथ संवाद में, उन्होंने इरफान की कला, शिल्प और जीवन पर चर्चा की|

5 फरवरी को भव्य साहित्यिक मैराथन का अंतिम दिन होगा और इसमें पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की बेटी और शास्त्रीय नृत्यांगना और कोरियोग्राफर शर्मिष्ठा मुखर्जी, शिक्षाविद आरती प्रसाद, अमिया श्रीनिवासन, सेलिब्रिटी शेफ असमा खान, प्रसिद्ध एथलीट और लेखिका सोहिनी चट्टोपाध्याय शामिल होंगी। हार्वर्ड के प्रोफेसर विंसेंट ब्राउन, पूर्व राजनयिक और लेखक जॉन जुब्रजीकी, कला इतिहासकार और जेएनयू के प्रोफेसर नमन आहूजा, पत्रकार वीर सांघवी और ‘इंटिमैसीज’ की लेखिका केटी कितामुरा समेत अन्य वक्ता शामिल होंगे| फेस्टिवल के 2024 संस्करण की प्रसिद्ध क्लोजिंग डिबेट का विषय होगा: क्या फ्री स्पीच तकनीक की निगरानी और प्राइवेसी इन्वेजन से बची रहेगी|

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

25,000FansLike
15,000FollowersFollow
100,000SubscribersSubscribe

Amazon shopping

- Advertisement -

Latest Articles