लोकसभा आम चुनाव- 2024: मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने मतदान दलों के प्रशिक्षण कार्यक्रम का किया निरीक्षण

जयपुर। मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता ने जयपुर में इंदिरा गांधी पंचायती राज संस्थान में पीठासीन अधिकारी एवं मतदान अधिकारियों के लिए आयोजित प्रशिक्षण कार्यक्रमों का निरीक्षण किया। इस दौरान गुप्ता ने मतदान दल के सदस्यों की विभिन्न समस्याओं को समझा। मतदान दलों के परिवहन एवं भत्तों संबंधी समस्याओं को सुनकर जिला निर्वाचन अधिकारी को निस्तारण के आदेश दिये।

गुप्ता ने प्रशिक्षणाधीन अधिकारियों से कहा कि लोकसभा चुनाव में मतदान एक महत्वपूर्ण कार्य है, जिसका जिम्मेदारीपूर्वक निर्वहन करना है। उन्होंने कहा कि सभी पीठासीन अधिकारी, मतदान अधिकारी-प्रथम, मतदान अधिकारी-द्वितीय एवं मतदान अधिकारी-तृतीय को मतदान करवाने की प्रक्रिया को पूरी गम्भीरता और उत्साह से सीखें।

उन्होंने मास्टर ट्रेनर्स को पीठासीन एवं मतदान अधिकारियों की जिम्मेदारियों को बारीकी से समझाने के निर्देश दिए, ताकि मतदान के दिन यदि कोई समस्या आए, तो तत्काल उसका निराकरण किया जा सके। उन्होंने प्रशिक्षणार्थियों से संवाद कर ईवीएम और वीवीपैट मशीन की कार्यप्रणाली के बारे में उनकी समझ को भी परखा।

मतदानकर्मियों ने राजस्थान विधानसभा आम चुनाव- 2023 के दौरान गुप्ता के निर्देशन में राज्य निर्वाचन विभाग द्वारा तैयार की गई 21 प्रपत्रों को बुकलेट के रूप में मतदान दलों को उपलब्ध कराने के नवाचार की सराहना की। उन्होंने मुख्य निर्वाचन अधिकारी को बताया कि इन बुकलेट से उनको मतदान केंद्र पर सम्पादित होने वाली प्रक्रिया को आसानी से और जल्द पूरा करने में सुविधा हो जाती है। इसलिए लोकसभा चुनाव में भी यह बुकलेट काफी मददगार रहेगी।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि मतदान दलों के उपयोग आने वाले 21 प्रकार के प्रपत्रों को वर्गीकृत कर 5 बुकलेट तैयार करवायी गई हैं। मतदानकर्मियों की सुविधा के लिए इनका रंग भी अलग-अलग है। बुकलेट-1 (मदताता रजिस्टर), बुकलेट-2 (फार्मं) एवं बुकलेट-3 (मतदाता पर्ची) का रंग सफेद है। बुकलेट-4 भाग-अ (फार्मं) एवं बुकलेट-5 भाग-ब (फार्मं) का रंग पीला है।

गुप्ता ने बताया कि इसी तरह 31 प्रकार के लिफाफों के लिए भी 1 बुकलेट तैयार की गई है, जिसमें लिफाफे क्रम संख्या अनुसार लगाए गए हैं। बुकलेट के मुख्य पृष्ठ पर प्रत्येक लिफाफे का विवरण तथा लिफाफे के मुख्य पृष्ठ पर यह अंकित है कि इस लिफाफे में कौनसा प्रपत्र आएगा।

गौरतलब है कि पूर्व में मतदान दलों को सभी प्रकार के फार्म एवं लिफाफे अलग-2 उपलब्ध करवाए जाते थे, जिससे कि कुछ प्रपत्र एवं लिफाफे के मतदान दल के बैग में रखते समय छूट जाते थे, जिसके कारण मतदान के समय प्रत्येक फार्म एवं लिफाफा नहीं मिलने के कारण समस्या उत्पन्न होती थी। इसके अतिरिक्त फार्म लूज होने के कारण मतदान दल के द्वारा उनका बण्डल बनाया जाता था, जिससे बण्डल को खोलने पर फार्म फट भी जाते थे। राजस्थान निर्वाचन विभाग द्वारा तैयार बुकलेट के कारण मतदान दलों को बैग बनाने में ज्यादा समय नहीं लगेगा तथा सभी फार्म एवं लिफाफे अच्छी स्थिति में मतदान केन्द्र तक पहुंच सकेंगे।

गुप्ता ने मतदान कर्मियों के फैसिलेटशन सेंटर का भी निरीक्षण किया। लोकसभा आम चुनाव की ड्यूटी में लगे कार्मिकों, पुलिस अधिकारियों आदि द्वारा जिलों में बने फेसिलिटेशन सेंटर्स पर मत डाले जा रहे हैं।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

25,000FansLike
15,000FollowersFollow
100,000SubscribersSubscribe

Amazon shopping

- Advertisement -

Latest Articles