वेबसाइट में वायरस डालकर मदद करने के बहाने ऑनलाइन ठगी करने वाले गिरफ्तार

जयपुर। करणी विहार थाना इलाके में ऑनलाइन ठगी करने वाले गिरोह का खुलासा करते हुए छह बदमाशों को गिरफ्तार किया गया है। यह लोग वेबसाइट में बग (वायरस) डालकर लोगों को झांसे में लेते और फिर मदद करने के बहाने लोगों को लूट लेते हैं। इस गिरोह को दिल्ली में बैठकर एक डिंपल नाम की महिला चला रही थी। फिलहाल मामले की जांच पड़ताल की जा रही है।

थानाधिकारी लिखमाराम ने बताया कि सूचना मिली थी कि चित्रकूट सेक्टर तीन के गोविन्द नगर में बने फ्लैट में कम्प्यूटर लगाकर साइबर ठगी की जा रही है। इस पर पुलिस की टीम ने छापेमारी करते हुए गौरव सोनी, दीपक मिश्रा, सागर थापा, हर्ष वर्धन, रोनी और ऐना विल्सन को गिरफ्तार किया। जिन्हें दिल्ली से डिंपल नाम की महिला ऑपरेट कर रही थी। इनके पास से चार लैपटॉप भी मिले हैं। पूछताछ में सामने आया है कि इस कॉल सेंटर से आरोपित और डिंपल किसी भी ऑनलाइन वेबसाइट पर एक छोटा सा बग डाल देते थे।

उस वेबसाइट पर कस्टमर के लॉगिन करने पर लैपटॉप-कम्प्यूटर की स्क्रीन फ्रीज हो जाती है। इसी दौरान बग में डाले गए फोन नम्बर कस्टमर के लैपटॉप या कम्प्यूटर की स्क्रीन दिखने लगते हैं। जो यूएस के होते हैं। इन नंबर पर कॉल करने पर कस्टमर उनसे संपर्क हो जाता है। इस पर वह कस्टमर को कंप्यूटर टेक्नीशियन बन कर बात करते हैं। कंप्यूटर ठीक करने के लिए सर्विस चार्ज 199 डॉलर (करीब 16 हजार रुपए) बताते हैं। कस्टमर को वह अमेजन, गूगल पे और पेपाल गिफ्ट कार्ड से पेमेंट करने के लिए बोलते हैं।

जिस पर उनके कहे अनुसार कस्टमर उक्त गिफ्ट कार्ड के नम्बर पढ़कर बता देता है। इन नम्बर को उनकी ऑनर डिंपल को बताते हैं। वह कस्टमर को आधा घंटा कम्प्यूटर ठीक करने का बोल कर होल्ड रखते हैं। फिर कहते हैं कि आपका लैपटॉप या कंप्यूटर ठीक हो गया है। असल में वह खराब होता ही नहीं है। पुलिस पूछताछ में आरोपियों से और भी कई वारदातें खुलने की संभावना जताई जा रही है।

एप्पल मोबाइल कंपनी की डुप्लीकेट एसेसरीज बनाते चार लोग गिरफ्तार

करणी विहार थाना पुलिस ने एप्पल कंपनी की डुप्लीकेट एसेसरीज बनाते चार युवकों को गिरफ्तार कर नकली सामान जब्त किया है। सहायक पुलिस आयुक्त (एसीपी वैशाली ) सुरेंद्र सिंह ने बताया कि करणी विहार थाना पुलिस ने लॉयस लेन कॉलोनी में एप्पल मोबाइल कम्पनी की डुप्लीकेट एसेसरीज बनाते बगरू निवासी 28 वर्षीय कमलेश, 30 वर्षीय राकेश चैधरी, बिंदायका निवासी 30 वर्षीय श्रवण और 20 वर्षीय लोकेश को पकड़ा है। आरोपी मोबाइल के कवर सहित अन्य एसेसरीज बनाते है। आरोपियों से पूछताछ की जा रही है।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

25,000FansLike
15,000FollowersFollow
100,000SubscribersSubscribe

Amazon shopping

- Advertisement -

Latest Articles