पुलिस ने 1 हजार 370 अपराधियों को चिन्हित कर उनके ठिकानों पर मारी दबिश

जयपुर। जयपुर पुलिस कमिश्नरेट की स्पेशल टीम (सीएसटी) ने जयपुर शहर में दहशतगर्दी एवं आपराधिक गतिविधियों के खिलाफ गिरफ्तारी व तलाशी अभियान चलाया गया। जिसमें आपराधिक गतिविधियों में लिप्त रहे अपराधियों को चिन्हित कर उनके ठिकानों एवं निवास स्थानों पर दबिश दी गई। इस विशेष अभियान में 503 अपराधियों को पूछताछ के लिए थाना लाया गया।

जिनमें से 485 अपराधियों को गिरफ्तार किया। जिसमें एनडीपीएस एक्ट में 02, आबकारी अधिनियम में 30, आर्म्स एक्ट में 3, अन्य एक्ट में 10 प्रकरण दर्ज, धारा 151 सीआरपीसी में 213, धारा 110 सीआरपीसी में 16, धारा 107/116 सीआरपीसी में 9, स्थाई/गिरफ्तारी वारंटों में 168 एवं पूर्व के प्रकरणों में 34 अपराधियों को गिरफ्तार किया एवं 16 संदिग्ध वाहन जब्त किये गयेे।

जयपुर पुलिस कमिश्नर बीजू जॉर्ज जोसफ ने बताया कि जयपुर शहर में ऐसे अपराधी जो इलाके में दहशतगर्दी एवं आपराधिक गतिविधियां कारित कर वारदातों को अंजाम देते है। इस प्रकार के अपराधी गली, मोहल्लों, आस-पास के क्षेत्र तथा शहर में भय का माहौल व्याप्त करते है। जो गंभीर अपराध करते है उनकी आपराधिक गतिविधियों में लगाम लगाने के लिये एवं उन पर सख्त कानूनी कार्यवाही करने के लिए अपराधियों की सघन तलाशी एवं दबिश की कार्यवाही जयपुर कमिश्नरेट पुलिस द्वारा सभी 1 हजार 370 ठिकानों पर एक साथ की गयी। यह कार्यवाही अति गोपनीय और व्यवस्थित तरीके से की गयी जिससे अपराधी एक दूसरे को सतर्क न कर सकें।

उन्होंने बताया कि जयपुर षहर में शांति व्यवस्था कायम रखने, अपराधियों में डर व आमजन में विश्वास कायम रखने एवं शहर में बढ़ती आपराधिक गतिविधियों, गैंग अपराधों पर अंकुश, अपराधियों में डर व आमजन में विश्वास कायम रखने, अपराधों पर लगाम लगाने के लिए अभियान में पुलिस टीमों की कार्यवाही जारी है। शहर में भारी भरकम पुलिस जाप्ते के साथ वांछित एवं सक्रिय अपराधियों के ठिकानों पर दी गई दबिश के कारण शहर भर के अपराधियों में खौफ पैदा हुआ है और इस कार्यवाही के दौरान कुल 1 हजार 370 स्थानों पर एक साथ दबिश देकर अपराधियों के ठिकानों की गहनता से तलाशी की गयी। गिरफ्तार किये गये व्यक्तियों की संख्या 485 है जो विभिन्न प्रकरणों व इंसदादी कार्यवाहियों में गिरफ्तार हुये है। अभियान में पकड़े अपराधियों से पुलिस अभी पूछताछ कर रही है जिससे और भी वारदातों के खुलासे व फरार अपराधियों की गिरफ्तारी की संभावना है।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

25,000FansLike
15,000FollowersFollow
100,000SubscribersSubscribe

Amazon shopping

- Advertisement -

Latest Articles