स्काईस्कैनर ने खुलासा किया कि भारत में जेन ज़ी की लगभग आधी आबादी पहली बार अकेले विदेश जाने के लिए तैयार है

  • जीवन के भव्य अनुभव लेने की इच्छा 46 प्रतिशत जेन ज़ी को ग्लोबल कंसर्ट और सांस्कृतिक प्रतीकों को देखने के लिए प्रेरित करती है।
  • 81 प्रतिशत जेन ज़ी का यात्रा का सपना उनकी पहली नौकरी लगने या पहली तनख्वाह पाने के बाद पूरा होता है।
  • 2024 में जेन ज़ी की यात्रा में सांस्कृतिक रुचियों, शाकाहारी-विकल्पों की उपलब्धता, और विस्तृत योजना ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

ग्लोबल ट्रैवल मार्केटप्लेस, स्काईस्कैनर ने अपनी लेटेस्ट रिपोर्ट ‘फर्स्ट ट्रिप विद स्काईस्कैनर’ जारी की है। इस रिपोर्ट में भारत में जेन ज़ी (18 से 25 साल) के लोगों में यात्रा की बढ़ती तलब का खुलासा हुआ है। उनमें से लगभग आधे (47 प्रतिशत) अपने माता-पिता या अभिभावकों के बिना विदेश में अकेले यात्रा करने की योजना बना रहे हैं, जो नए एडवेंचर पर निकलने और खोज करने की उनकी गहरी इच्छा (49 प्रतिशत) के कारण है। इससे भी ज्यादा दिलचस्प यह है कि जेन ज़ी की इस रुचि में उनकी वित्तीय स्वतंत्रता महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है, और 81 प्रतिशत लोग विदेश यात्रा की शुरुआत अपनी पहली नौकरी मिलने या अपना पहला वेतन मिलने के बाद करने की योजना बना रहे हैं।

पहली विदेश यात्रा पूरे विश्व के युवाओं के लिए एक बड़ी उपलब्धि का प्रतिनिधित्व करती है। कई बार यह ग्रेजुएशन की खुशी मनाने के लिए की जाती है, लेकिन भारत में यह तभी संभव हो पाती है, जब वो अपनी पहली नौकरी शुरू करते हैं। विदेश यात्रा का सपना पूरा करने के लिए भारत में हर 3 में से 2 युवा मेहनत से बचत कर रहे हैं, जबकि हर 5 में से 1 युवा बाय-नाउ-पे-लेटर विकल्पों का उपयोग करते हैं।

इस सर्वे में यात्रा के व्यवहारों के साथ यह भी बताया गया कि जेन ज़ी अपने माता-पिता या अभिभावकों के बिना अकेले पहली यात्रा करने की तैयारी करते हुए किन बातों का ख्याल रखते हैं। यात्रा की इन इच्छाओं को समझकर स्काईस्कैनर का उद्देश्य युवा मुसाफिरों को अपनी प्राथमिकताओं को समझने और उन्हें आवश्यक संसाधन प्रदान करने में सहयोग देना है ताकि वो अपनी यात्रा से पहले प्रभावशाली प्लानिंग कर सकें और सर्वश्रेष्ठ डील्स प्राप्त कर सकें।

स्काईस्कैनर के ट्रैवल एवं डेस्टिनेशन एक्सपर्ट, मोहित जोशी ने कहा, ‘‘भारत में जेन ज़ी खोजने की महत्वाकांक्षा रखते हैं। चाहे सेमेस्टर ब्रेक या लंबे वीकेंड पर घूमने की इच्छा हो (42 प्रतिशत) या जन्मदिन, वर्षगाँठ, या ग्रेजुएशन जैसे अवसरों की खुशी मनानी हो (39 प्रतिशत), यात्रा करने का उनका जोश हर अवसर पर होता है। उनके यात्रा साथी के रूप में हम उन्हें अपने सपनों को वास्तविकता में बदलने में समर्थ बनाना चाहते हैं और उन्हें आवश्यक संसाधन और टूल्स प्रदान करना चाहते हैं, ताकि वो अपनी पहली यात्रा बिना किसी दिक्कत के कर सकें। स्काईस्कैनर में सर्च फीचर्स, जैसे ‘प्राईस अलर्ट’ का उपयोग करके या ‘चीपेस्ट मंथ’ टूल की मदद से भारतीय यात्री उड़ान सेवाओं पर औसतन 32 प्रतिशत की बचत कर सकते हैं।’’

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

25,000FansLike
15,000FollowersFollow
100,000SubscribersSubscribe

Amazon shopping

- Advertisement -

Latest Articles