आपसी विवाद के चलते एक्सीडेंट के माध्यम से महिला की हत्या के लिए सुपारी देने वाला और लेने वाले बदमाश गिरफ्तार

जयपुर। शहर में पहली बार एक ऐसा मामला सामने आया है जिसमें वाहन से टक्कर मार कर महिला को जान से मारने के लिए सुपारी ली गई है। पुलिस ने इस मामले में सुपारी लेने वाले मुख्य सरगना सहित तीन लोगों को अरेस्ट किया है। पुलिस ने सुपारी देने वाले आरोपी को भी दस्तयाब कर लिया है। सुपारी देने वाले और परिवादिया के बीच आपस में पूर्व से विवाद चल रहा था।

आरोपी पहले परिवादिया के पिता की गाड़ी चलाता था तथा ज्यादातर उनके घर पर ही रहता था। पूर्व में भी आरोपी मन्नालाल ने परिवादिया की माता के गहने चुरा लिए थे जो मुकदमा दर्ज होने पर वापिस देकर राजीनामा कर लिया था वर्तमान में परिवादिया व आरोपी मन्नालाल के बीच लेनदेन तथा भुखण्ड संबंधी विवाद था। आरोपी इसी कारण परिवादिया से रजिंश रखता था।

डीसीपी साउथ दिगत आनंद ने बताया कि 31 मार्च को सुबह करीब 10 से 11 बजे के बीच कावेरी पथ मानसरोवर में एक महिला को जान बूझकर वाहन से टक्कर मारने के मामले में उसके पुत्र हर्षवर्धन सिंह ने मानसरोवर थाने में मामला दर्ज करवाया था। रिपोर्ट में हर्षवर्धन ने बताया कि मेरी माताजी हमारे घर के बाहर गाडी में सामान रख रही थी तभी पूर्व से खड़ी गाडी नम्बर आरजे 45 सीवी 5723 के चालक ने जानबुझकर अपनी गाडी को चलाकर मेरी माताजी के टक्कर मार दी जिससे गंभीर चोटे आई।

इस पर पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की। इस मामले में सुपारी देने वाले और सुपारी लेकर वारदात को अंजाम देने वाले तीन बदमाशों को अरेस्ट किया है। आरोपी सुपारी लेकर एक्सीडेंट के माध्यम से हत्या करने वाली गैंग चलाते है।

वारदात के लिए किराए पर ली कार

डीसीपी ने बताया कि घटना के बाद मौके से सीसीटीवी कैमरों की रिकॉर्डिंग खंगाली गई। रिकॉर्डिंग में सामने आया कि गाड़ी नम्बर आरजे 45 सीवी 5723 का चालक काफी समय से परिवादिया के घर के आस पास अपने वाहन को खड़ा करके इंतजार कर रहा था। परिवादिया के घर से बाहर आने पर कार स्टार्ट कर तेजगति से परिवादिया के टक्कर मार देता है। कार के नम्बरों के आधार पर वाहन स्वामी श्रवण मीणा से पूछताछ की गई तो उसने बताया कि मेरा कुकु कार रेन्टल प्राइवेट लिमिटेड के नाम से ऑफिस है तथा 31 मार्च को मेरी उक्त कार नम्बर आरजे 45 सीवी5723 को अंशुमान मीणा किराए पर लेकर गया था।

घटना में प्रयुक्त वाहन आरजे 45 सीवी 5723को बरामद किया गया। सूचना के आधार पर परिवादिया के मकान की रैकी करने तथा कार चलाकर परिवादिया को टक्कर मारने वाले तथा टक्कर मारने की सुपारी देने वाली सम्पूर्ण गिरोह के अपराधी मन्नालाल चौधरी, महेश जागिड उर्फ बॉक्सर, राहुल चौधरी, अशुमान मीणा को पकड़ कर पूछताछ की गई।

लेन-देन और भूखंड विवाद के साथ अन्य कई विवाद के चलते दी सुपारी

सुपारी देने वाले मन्नालाल का परिवादिया से लेन-देन और भूखंड विवाद के साथ अन्य कई मामलों को रंजिश चल रही थी। आरोपी मन्नालाल चौधरी पहले परिवादिया के पिता की गाडी चलाता था तथा उनके घर पर ही ज्यादातर रहता था। पूर्व में भी आरोपी मन्नालाल निवासी फागी ने परिवादिया की माताके गहने चुरा लिए थे जो मुकदमा दर्ज होने पर वापिस देकर राजीनामा कर लिया था वर्तमान में परिवादिया व आरोपी मन्नालाल के बीच लेनदेन तथा भुखण्ड संबंधी विवाद था।

आरोपी मन्नालाल इसी कारण परिवादिया से रजिंश रखता था। आरोपी मन्नालाल चौधरी ने परिवादिया को जान से मारने तथा घटना को एक्सीडेन्ट का रूप देने की नियत से अपने जानकार महेश जागिंड उर्फ बॉक्सर से बात की तथा उक्त घटना को अन्जाम देने के लिए 1 लाख रुपए की सुपारी देना तय हुआ। आरोपी महेश जागिंड उर्फ बॉक्सर निवासी माधोराजपुरा ने मिलने वाले बदमाश राहुल चौधरी निवासी निमोडिया चाकसू, जितेन्द्र उर्फ गुडडू , अजय और अशुमान निवासी टोंक के साथ मिलकर घटना को अन्जाम देने की योजना बनाई ।

सौदा तय होने व खातों में रुपयों का स्थानान्तरण होने के उपरान्त मन्नालाल चौधरी ने महेश जागिड उर्फ बॉक्सर को परिवादिया का मकान दिखाकर रैकी करवाई तथा महेश जागिड उर्फ बॉक्सर ने अपनी गैग के अन्य साथियों को परिवादिया का मकान व स्वयं की रैकी करवाकर समय और टारगेट फिक्स किया।

योजना के अनुसार घटना को अन्जाम देने के लिए राहुल चौधरी और जितेन्द्र उर्फ गुडडू द्वारा मोटरसाईकिल पर रैकी की गई। योजना अनुसार आरोपियों ने घटना में काम में लेने के लिए कार प्रतापनगर से 12 घण्टे के लिए किराए पर लिया। रैकी करने के लिए मोटरसाइकिल पर आरोपी राहुल चौधरी तथा जितेन्द्र उर्फ गुडडू सवार हुए तथा टक्कर मारने के लिए कार में चालक अजय और अशुमान सवार होकर परिवादिया के निवास स्थान पर पहुंचे।

परिवादिया अपने मकान से बाहर आकर वाहन में सामान रखने के दौरान आरोपी अजय मीणा ने कार को दौडाकर परिवादिया को जान से मारने के लिए टक्कर मार दी लेकिन परिवादिया टक्कर से गाडी में गिरने के कारण घायल हो गई। हादसे के बाद आरोपी फरार हो गए।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

25,000FansLike
15,000FollowersFollow
100,000SubscribersSubscribe

Amazon shopping

- Advertisement -

Latest Articles