एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स पुलिस की कार्रवाई: रोहित गोदारा गैंग के दो सक्रिय सदस्य को सीकर में पकड़ा

जयपुर। एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स (एजीटीएफ) पुलिस मुख्यालय राजस्थान जयपुर द्वारा रोहित गौदारा गैंग के दो सक्रिय सदस्य सुरेन्द्र सिंह व राजेश जोया उर्फ जोया सरकार को सीकर से पकड़ने में सफलता हासिल की है।

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स एवं अपराध दिनेश एमएन ने बताया कि एजीटीएफ टीम को सूचना प्राप्त हुई कि रोहित गोदारा गैग के लिए काम करने वाले व उस गैंग के गुर्गों को शरण देने वाले सुरेन्द्र व राजेश जोया उर्फ जोया सरकार कुछ दिनों पहले महिपाल पचार निवासी पचारो की ढाणी सीकर निवासी है । जिनसे लेनदेन का विवाद था। जिसके लिए उसे गैंगस्टर रोहित गोदारा द्वारा धमकी देकर मामले को बैठकर निपटाने को कहा गया। जिस पर सुरेन्द्र व राजेश जोया ने परिवादी घर बुलाकर कमरे में बंद किया और दोनो ने मारपीट की।

रोहित गोदारा की धमकी के कारण परिवादी पुलिस में मुकदमा दर्ज की असमंजस में रहा। ये दोनो अपराधी गैंगस्टर रोहित गोदारा के लिए सीकर और शेखावाटी क्षेत्र के अच्छे पैसे वाले लोगों के मोबाईल नम्बर व उनके मूवमेंट एवं की जानकारी देते है। कुछ दिन पूर्व रोहित गोदारा गैंग का अपराधी राहुल रिणाउ जो दो हत्याकांड में न्यायिक हिरासत से पैरोल पर फरार चल रहा है । उसकी बहन की शादी में सुरेन्द्र थालोट, राजेश जोया उर्फ जोया सरकार ने साथी बदमाशों को यह संदेश भेजा कि राहुल रिणाउ की बहन की शादी में सभी साथियों को आना है एवं अधिक से अधिक राशि कन्यादान स्वरूप देनी हैं।

जो ऐसा नहीं करेगा वह हमारा दुश्मन होगा एवं उसे इसका दुष्परिणाम भुगतना पडेगा। इस धमकी के उपरांत शेखावाटी के बहुत सारे बदमाश शादी आये और कन्यादान किया। सुरेन्द्र सिह एवं राजेश कुमार जोया भी 4 मार्च को राहुल रिणाउ की बहिन की शादी में शामिल थे। जिस पर एजीटीएफ टीम द्वारा दोनों आरोपियों को डिटेन कर पुलिस थाना सदर सीकर को सुपुर्द कर दिया। इसके सभी अन्य सहयोगियों को भी एजीटीएफ द्वारा चिन्हित किया गया है।

एजीटीएफ द्वारा अन्य अपराधियों की धरपकड़ के लिए कई स्थानो पर दबिश दी जा रही है, उनके विरुद्ध कानूनी प्रक्रिया प्रारंभ कर दी गई है। सुरेंद्र थालोट, राजेश जोया उर्फ जोया सरकार से सख्ती से पूछताछ की जा रही है जिसमें और भी कई बड़े खुलासे होने की संभावना है। इस सम्पूर्ण कार्यवाही में एडिशनल एसपी विद्या प्रकाश का कुशल नेतृत्व रहा एवं सोहन सिंह हैड कांस्टेबल एवं सन्नी कुमार कांस्टेबल की विशेष भूमिका रही।

एजीटीएफ टीम

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विद्या प्रकाश, पुलिस निरीक्षक रविन्द्र प्रताप सिंह, हैड कांस्टेबल मदन लाल शर्मा, सोहन सिंह, कांस्टेबल अरुण कुमार, बृजेश कुमार, सन्नी कुमार, कुलदीप सिंह श्रवण कुमार कांस्टेबल चालक ।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

25,000FansLike
15,000FollowersFollow
100,000SubscribersSubscribe

Amazon shopping

- Advertisement -

Latest Articles