विश्व पर्यटन दिवस: पर्यटकों का तिलक लगा और माला पहनाकर स्वागत

जयपुर। विश्व पर्यटन दिवस पर बुधवार को राजधानी के पर्यटन स्थलों व संग्रहालयों पर  देशी-विदेशी सैलानियों का राजस्थानी परंपरानुसार स्वागत सत्कार किया गया। पर्यटकों का तिलक लगाकर और माला पहनाकर स्वागत किया गया। पर्यटन स्थलों पर लोगों को निशुल्क प्रवेश दिया गया। वहीं परकोटे में सुबह हेरिटेज वॉक-वे का आयोजन किया गया।

शहर के आमेर महल, हवा महल, जंतर मंतर सहित सभी पर्यटन स्थलों पर राजस्थानी लोकरंग की छटा बिखरी रही है।
आमेर महल अधीक्षक पंकज धरेन्द्र ने बताया कि विश्व पर्यटन दिवस पर बुधवार को आमेर महल में सुबह से ही पर्यटकों का तिलक लगाकर और माला पहनाकर स्वागत सत्कार किया गया। महल में लोक-कलाकार अपनी प्रस्तुति दी गई। जिनके साथ देशी-विदेशी सैलानी भी नाचते नजर आए। सुबह से ही यहां पर्यटकों की भीड़ नजर आईं।

देशी-विदेशी सैलानियों का हवामहल में राजस्थानी अंदाज़ में स्वागत

राजकीय संग्रहालय हवामहल जयपुर अधीक्षक सरोजनी चंचलानी ने बताया कि विश्व पर्यटन दिवस के मौके पर देशी-विदेशी पावणों का हवा महल के सामने राजस्थानी अंदाज़ में स्वागत किया गया। हवामहल में पर्यटकों के स्वागत के लिए प्रवेश द्वार पर रंगोली बनाई गई। पर्यटन विभाग के सहयोग से शहनाई वादन कार्यक्रम,बहरूपिया कलाकारों की ओर से कला-पदर्शन किया गया और मांगनियार लोककलारों की ओर से कच्छी घोडी नृत्य व लोकगीतों की प्रस्तुती दी गई। मुगल और राजपूत वास्तुकला के मिश्रण और गुलाबी पत्थरों से बनी यह इमारत पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र है।

953 खिड़कियों की यह इमारत महाराजा सवाई प्रताप सिंह द्वारा राजघराने की महिलाओं के लिए बनाई गई थी, जिस से बिना किसी की निगाह पड़े महिलायें खिडकियों से नीचे सडकों के समारोह व गलियारों को देख पाए। लेकिन अब यह जयपुर के पर्यटन स्थलों में से सबसे ज्यादा पसंद किया जाने वाला स्थल है। विश्व पर्यटन दिवस के अवसर पर राजधानी के सभी पर्यटक स्थलों पर पर्यटकों की निशुल्क एंट्री रही। वहीं निशुल्क प्रवेश होने के कारण पर्यटक भी बड़ी संख्या में पर्यटक स्थल देखने पहुंचे।

साथ ही गुलाबी नगरी के अल्बर्ट हॉल, जंतर मंतर, सिटी पैलेस, आमेर महल और नाहरगढ़ फोर्ट सहित विभिन्न स्मारकों पर कई सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी आयोजन किया गया। इस मौके पर देशी-विदेशी सैलानी उत्साहित नजर आए। सैलानियों ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुतियों को अपने कैमरे में भी कैद किया।

पर्यटन विभाग के उपनिदेशक उपेंद्र सिंह शेखावत ने बताया कि पर्यटन विभाग की ओर से परकोटे में दो रूट पर हेरिटेज वॉक का आयोजन किया गया। पहली हेरिटेज वॉक स्कूल ऑफ आर्ट से शुरू होकर चौड़ा रास्ता स्थित टूरिस्ट फैसेलिटी सेंटर तक पहुंची। दूसरी हेरिटेज वॉक जंतर-मंतर से शुरू होकर हवामहल तक आई। सुबह पौने छह बजे से सुबह साढ़े सात बजे तक खासा कोठी से आमेर तक हेरिटेज राइड का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के अंत में सभी वॉलंटियर्स को पर्यटन विभाग की ओर से सर्टिफिकेट दिए गए।

हेरिटेज वॉक में पर्यटकों के साथ साथ आईएचएम जयपुर के विद्यार्थियों को भी भ्रमण करवाया गया, जो कि राजस्थान की वास्तुकला, वॉक वे में किए गए संरक्षण और सौंदर्यीकरण के कार्यों से रूबरू हो सकें। साथ ही इस क्षेत्र में स्थित शिल्पी-कारीगरों के पारंपरिक कार्यों को नजदीक से देखकर इनके बारे में जान सकें। वहीं पन्ना मीणा कुंड से नेचर ट्रैक का भी शुभारंभ हुआ। इस मौके पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पर्यटन विभाग की ओर से कराए गए विकास कार्यों का वर्चुअल लोकार्पण किया।

शेखावत ने बताया कि विश्व पर्यटन दिवस के अवसर पर हर साल की तरह इस साल भी प्रदेशभर में सेलिब्रेशन मनाया गया। पर्यटन विभाग की ओर से जयपुर के प्रमुख पर्यटन स्थलों पर पुरातत्व और संग्रहालय विभाग, भारत पर्यटन कार्यालय, इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट, जयपुर और गाइड एसोसिएशन के संयुक्त तत्वावधान में विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

25,000FansLike
15,000FollowersFollow
100,000SubscribersSubscribe

Amazon shopping

- Advertisement -

Latest Articles