पेपर लीक केस में गिरफ्तार 14 ट्रेनी एसआई कोर्ट में पेश

जयपुर। एसआई भर्ती परीक्षा 2021 में पेपर लीक कर पास 14 प्रशिक्षु एसआई को मंगलवार को एसओजी ने कोर्ट में पेश किया। एसओजी ने कोर्ट से सभी आरोपियों की 9 दिन की रिमांड मांगी थी, लेकिन कोर्ट ने 6 दिन की रिमांड दी। एसओजी  की टीम पहले महिला एसआई और फिर पुरुष एसआई को लेकर कोर्ट पहुंची। इससे पहले कोर्ट ने सभी आरोपियों को 6 दिन के रिमांड पर भेजा था।

रिमांड अवधि पूरी होने पर मंगलवार को फिर से सभी आरोपियों को कोर्ट में पेश किया गया। । सभी आरोपियों की 6 दिन की रिमांड पूरी होने के बाद एसओजी की टीम पहले 6 महिला ट्रेनी एसआई को कोर्ट लेकर पहुंची। इस दौरान कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई थी। मामले में गिरफ्तार एसआई चंचल विश्नोई की मां अपनी 3 महीने की नातिन के साथ कोर्ट में मौजूद रहीं। महिला एसआई को कोर्ट में पेश करने के बाद 8 पुरुष एसआई को भी कोर्ट में पेश किया गया। पिछली सुनवाई में महिला और पुरुष एसआई से कोर्ट में हुई मारपीट के चलते इस बार सुरक्षा व्यवस्था कड़ी की गई।


गौरतलब है कि 29 फरवरी को एसओजी की गिरफ्त में आए जेईएन भर्ती पेपर लीक के मास्टरमाइंड जगदीश विश्नोई (41) से हुई पूछताछ के बाद कई चौंकाने वाली जानकारी सामने आई थी। जगदीश ने बताया था कि एसआई भर्ती 2021 में भी तमाम कैंडिडेट्स को पेपर उपलब्ध कराए थे। जांच करने पर आरपीए में ट्रेनिंग कर रहे सब-इंस्पेक्टर (एसआई) संदिग्ध पाए गए। उनके दस्तावेजों की जांच शुरू की गई और फिर उनको पकड़ा गया। जयपुर में एसओजी ने इन 14 एसआई के शैक्षणिक दस्तावेजों की प्रारंभिक जांच की तो डिग्रियों के रिकॉर्ड में हेरफेर होना पाया है।

ऐसे में एसओजी ने 40 एसआई को चिह्नित किया, इनमें से 23 एसआई की डिग्रियां फर्जी मिली हैं। अब एसओजी अन्य दस्तावेजों की भी जांच कर रही है। वहीं एफएसएल की टीम ने गिरफ्तार 14 एसआई के हस्ताक्षर व हैंडराइटिंग के नमूने लिए। जयपुर में जांच के दौरान सभी से खुद के 32 हस्ताक्षर करवाने के साथ पैराग्राफ लिखवाया गया। जिन प्रशिक्षु उप निरीक्षक की गिरफ्तारी हुई है उनमें नागौर के पुलिस उपाधीक्षक ओमप्रकाश गोदारा का बेटा भी है। गिरफ्तार एसआई करणपाल गोदारा की 22वीं रैंक थी। बेटे की गिरफ्तारी के दिन से ओमप्रकाश अवकाश पर है।


पेपर लीक मामले में भाई बहन अरेस्ट, एक की तलाश जारी


एसओजी के अतिरिक्त महानिदेशक वी.के.सिंह ने बताया कि पेपर लीक मामले में भाई-बहन को अरेस्ट किया गया है। 2014 बैंच का एसआई जगदीश सिहाग वर्तमान में भरतपुर एसपी के पास कार्यरत था और उसकी बहन इंदू बाला ट्रेनिंग कर रही थी। इन दोनों को अरेस्ट किया गया है। जबकि भगवती देवी की तलाश की जा रही है। भगवती देवी के स्थान पर वर्षा कुमारी ने परीक्षा दी थी। वर्षा कुमारी को पहले ही पुलिस अरेस्ट कर चुकी है। वर्षा कुमारी ने इंदुबाला के स्थान पर भी परीक्षा दी थी। वर्षा कुमारी से पूछताछ के बाद ही इनकों गिरफ्तार  किया गया है। जगदीश सिहाग के तीन रिश्तेदार पेपर लीक और डमी कैंडिडेट की मदद से परीक्षा पास की थी। वर्षा कुमारी ने एसआई परीक्षा पास कर ली थी, लेकिन ज्वाइन नहीं किया था।

R

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

25,000FansLike
15,000FollowersFollow
100,000SubscribersSubscribe

Amazon shopping

- Advertisement -

Latest Articles