June 19, 2024, 4:22 am
spot_imgspot_img

CIBJO संगोष्ठी जयपुर में शुरू: रत्न और आभूषण उद्योग ने स्व-नियमन के माध्यम से विश्वास-पारदर्शिता को बढ़ाने का लिया संकल्प

जयपुर। विश्व आभूषण परिसंघ (सीआईबीजेओ) ने पहली बार जयपुर के फेयरमोंट में अपनी वार्षिक सगोष्ठी आयोजित की। संगोष्ठी का आयोजन 3 से 5 अक्टूबर तक किया जा रहा है। 2023 संगोष्ठी की मेजबानी जेम एंड ज्वैलरी एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल (जीजेईपीसी) और नेशनल जेम एंड ज्वैलरी काउंसिल ऑफ इंडिया (एनजीजेसीआई) द्वारा की जा रही है, जो वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय और एमएसएमई मंत्रालय भारत सरकार को समर्थित है।

उद्घाटन सत्र में भारत सरकार के केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने भाग लिया। जहां केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि सीआईबीजेओ एक ऐसा कार्यक्रम है जहां चमचमाती दुनिया के रत्न एकजुट होते हैं। भारत की प्राचीन परंपरा अतिथि देवो भावो की भावना में वह अनुरोध करते है कि व्यावसायिक गतिविधियों के दौरान गुलाबी शहर के आतिथ्य का आनंद लें। यह आयोजन एक ऐतिहासिक क्षण है क्योंकि यह पहली बार है कि सिबजो सगोष्ठी भारतीय धरती पर आयोजित की जा रही है।

जयपुर में होने वाली सीआईबीजेओ संगोष्ठी सिर्फ एक स्थान से कहीं अधिक है। यहां सिबजो संगोष्ठी की मेजबानी उस जबरदस्त क्षमता का प्रमाण है जो भारत न केवल एक बाजार के रूप में बल्कि एक वैश्विक विनिर्माण केंद्र के रूप में रखता है। जी-20 शिखर सम्मेलन भारत के वैश्विक नेता के रूप में उभरने का प्रतीक है।

जयपुर कारीगरों की जीवंत भावना और रत्न एवं आभूषण उद्योग के समृद्ध इतिहास का प्रतीक है, जिसका प्रतिनिधित्व जयपुर करता है। उद्योग के पास स्थानीय को वैश्विक बनाने के लक्ष्य को साकार करने की शक्ति और वादा है। रत्न और आभूषण क्षेत्र भारत की अर्थव्यवस्था में एक प्रमुख खिलाड़ी है। जो सालाना भारत के व्यापारिक निर्यात में महत्वपूर्ण योगदान देता है और लगभग 5 मिलियन लोगों को रोजगार देता है।

सीआईबीजेओ के अध्यक्ष गेटानो कैवेलियरी ने अपने स्वागत भाषण में कहा कि सीआईबीजेओ दुनिया का सबसे पुराना अंतर्राष्ट्रीय आभूषण संघ है और वर्ष 2026 में 100 साल का जश्न मनाएगा। सीआईबीजेओ सगोष्ठी लगभग 4 वर्षों के बाद फिर से आयोजित की जा रही है।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

25,000FansLike
15,000FollowersFollow
100,000SubscribersSubscribe

Amazon shopping

- Advertisement -

Latest Articles