“उद्यमिता जागरूकता कार्यक्रम” सफलतापूर्वक संपन्न

जयपुर। ए.पी.जे. अब्दुल कलाम राजकीय कन्या महाविद्यालय, गंगापोल, जयपुर ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष्य में 7 मार्च से 9 मार्च 2024 तक उद्यमिता जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया, जिसमें युवा महिलाओं को उद्यमशीलता की दिशा में प्रेरित और उत्साहित करने का लक्ष्य था। इस कार्यक्रम में उत्साही छात्राओं ने भाग लिया और उद्यमशीलता के पहलुओं पर गहन चिंतन किया। कार्यक्रम के दौरान उद्यमशीलता मानसिकता कार्यशाला, निबंध लेखन प्रतियोगिता, और अनौपचारिक संवाद सत्र जैसे विविध गतिविधियाँ आयोजित की गईं।

यह आयोजन इंडियन साइंस कांग्रेस एसोसिएशन – जयपुर चैप्टर, एमएसएमई – विकास कार्यालय (भारत सरकार) जयपुर, और लेट्स स्टार्ट (सेंटर फॉर इन्नोवेशन एंड एंटरप्रेन्योरशिप) के तत्वावधान में किया गया, जिससे छात्राओं में उद्यमिता के प्रति जागरूकता और समझ विकसित हुई। आज संपन्न हुये सत्र में मुख्य अतिथि श्री गिरीश कुमार शर्मा, सहायक निदेशक, एमएसएमई – विकास कार्यालय (भारत सरकार) जयपुर ने अपने उद्बोधन में भारत सरकार, राज्य सरकार एवं विभिन्न एजेंसियों द्वारा महिलाओं के लिए संचालित सहयोग कार्यक्रमो तथा योजनाओं को विस्तार से बताया।

कार्यक्रम में विशेष अतिथि विख्यात बैंकिंग क्षेत्र ट्रेनर रामगोपाल अग्रवाल ने बैंकों द्वारा महिलाओं के लिए संचालित विशेष विविध योजनाओं का लाभ किस प्रकार से उपयोग में लिया जाए विषय पर उदाहरणों सहित समझाया। सत्र् में विशेष अतिथि इंजि. रतन सिंह शेखावत, राज्य सरकार के प्रोजेक्ट्स में वरिष्ठ कंसल्टेंट ने उद्यमिता जागरूकता के लिए अन्वेषणात्मक दृष्टिकोण को अपनाने एवं असफलता को शुभकामना मानते हुए निरंतर प्रयासरत रहने पर बल दिया।

कार्यक्रम में ई.सी.एच. इनक्युबेशन सेंटर, राजस्थान विश्वविद्यालय जयपुर के मेंटरशिप प्रभारी डॉ सुनील छींपा ने सफल महिला उद्यमियों के उदाहरण देते हुए सेंटर द्वारा देय सुविधाओं को उपयोग में लेने का आमंत्रण दिया। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए प्राचार्य प्रो हेमन्त पारीक ने छात्राओं से उद्यमिता के दृष्टिकोण को अपनाने एवं वर्तमान समयानुसार आवश्यक आमुखीकरण करने का आह्वान किया।

कार्यक्रम में सर्वप्रथम अतिथियों का स्वागत भाषण कालेज की वरिष्ठ संकाय सदस्य चेतना सहल ने दिया। कार्यक्रम में राजकीय महाविद्यालय, सावर, अजमेर की गृह विज्ञानी निशा माथुर ने छात्राओं को चरणबद्ध तरीके से स्वयं के कारोबार को विकसित करने एवं योजनाबद्ध रिस्क लेते हुए आगे बढ़ते रहेने की सलाह दी। कार्यक्रम में अनौपचारिक संवाद में राजस्थान विश्वविद्यालय जयपुर के दीपक शर्मा ने संचालन किया। छात्राओं ने उद्यमिता के क्षेत्र में स्वयं को विकसित करने और नवाचारी विचारों को साकार करने की महत्वपूर्ण जानकारियाँ प्राप्त कीं।

इसके अतिरिक्त, उन्हें सरकारी योजनाओं के बारे में भी जानकारी दी गई, जो स्टार्टअप्स और अन्य महिला उद्यमियों के समर्थन के लिए महत्वपूर्ण हैं। इससे उन्हें उद्यमिता की यात्रा आरंभ करने में आत्मविश्वास मिला और वे समाज में अपनी सकारात्मक भूमिका को पहचानने में समर्थ हुईं। इस आयोजन के माध्यम से न केवल छात्राओं का ज्ञानवर्धन हुआ, बल्कि उन्हें उद्यमशीलता के क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए प्रेरणा और साहस भी प्रदान किया गया। हम आशा करते हैं कि इस कार्यक्रम से प्रेरित होकर अधिक से अधिक युवा महिलाएं उद्यमशीलता की दिशा में अपने कदम बढ़ाएंगी और अपने सपनों को साकार करेंगी।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

25,000FansLike
15,000FollowersFollow
100,000SubscribersSubscribe

Amazon shopping

- Advertisement -

Latest Articles