एक मई को गणेश निमंत्रण से होगी भगवान परशुराम जन्मोत्सव शुरुआत

जयपुर। सर्व ब्राह्मण महासभा एवं अन्य सहयोगी ब्राह्मण संगठनों की ओर से प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी भगवान परशुराम जन्मोत्सव समारोह एक मई से पन्द्रह मई तक आयोजित किया जायेगा। पन्द्रह दिवस तक चलने वाले कार्यक्रम में विभिन्न दिवसों पर भगवान परशुराम जन्मोत्सव समारोह के अन्तर्गत विभिन्न कार्यक्रम आयोजित होगें।

सर्व ब्राह्मण महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष पंडित सुरेश मिश्रा ने बताया है कि इस बार न केवल राजस्थान और देश में वरन विश्व के आठ प्रमुख देशों में भगवान परशुराम जन्मोत्सव का आयोजन होगा। ऐसा पहली बार होगा की विदेशो की धरती पर भगवान परशुराम जी की जय जयकार होगी और विभिन्न आयोजन होगें। जिसमें प्रमुख रूप से आस्ट्रेलिया-न्यूजीलैंड, लंदन, कनाडा, इटली, अमेरिका, बैंकांग, दुबई, कतर में परशुराम जन्मोत्सव दस मई को धूमधाम से आयोजित किया जायेगा और देश की सभी राजधानियों में शस्त्र पूजन के आयोजन किये जायेगें। साथ ही राजस्थान प्रदेश में सभी जिला मुख्यालयों और तहसील, गांव ढाणी स्तर तक भगवान परशुराम जन्मोत्सव के तहत विभिन्न आयोजन किये जायेगे।

भगवान परशुराम जन्मोत्सव समारोह का विधिवत शुभारंभ एक मई को प्रातः नौ बजे मोती डूंगरी स्थित गणेश मंदिर में गणेश निमंत्रण के साथ होगा। इस अवसर पर जयपुर के प्रमुख संत,महंतों की उपस्थिति में एक स्टीकर का विमोचन भी किया जायेगा। छह मई को ताड़केश्वर महादेव मंदिर चौड़ा रास्ता में 5100 दीपों से महाआरती का आयोजन होगा। आठ मई को ‘‘भगवान परशुराम जी का व्यक्तित्व एवं कृतित्व’’ विषय पर विचार गोष्ठी का आयोजन किया जायेगा।

जिसमें विद्वान परशुराम जी के व्यक्तित्व पर प्रकाश डालेंगें। नौ मई को परशुराम जन्मोत्सव की पूर्व संध्या पर रेलवे स्टेशन स्थित भगवान परशुराम सर्किल पर नन्हे-मुन्ने बच्चे दीप प्रज्जवलन करेंगें। दस मई को मुख्य समारोह में भगवान परशुराम जी की मूर्ति की प्रतिष्ठा होगी साथ ही पूरे प्रदेश में परशुराम जन्मोत्सव की शोभायात्रा का आयोजन होगा।

मिश्रा ने बताया कि दस मई को भगवान परशुराम जी का श्रृंगार पूजा अर्चना एवं महाआरती भी की जायेगी साथ ही एक मई से पन्द्रह मई तक जयपुर, उदयपुर, टोंक, बांसवाड़ा, बूंदी, झालावाड़, जोधपुर, बीकानेर, गंगापुर सिटी, अलवर, सवाई माधोपुर, डूंगरपुर, झुंझुनू, दौसा, गंगानगर, चूरू, सीकर, पाली, जालौर, जैसलमेर, कोटा, माउंट आबू सहित पैंतीस जिलों एवं 180 तहसील मुख्यालयों पर विभिन्न कार्यक्रम जन्मोत्सव समारोह के अन्तर्गत आयोजित होंगे।

मिश्रा ने बताया कि पन्द्रह मई को शस्त्र एवं शास्त्र का पूजन किया जायेगा। साथ ही बारह मई को भगवान परशुराम जन्मोत्सव समारोह के समापन पर जयपुर में ब्राह्मण रत्न सम्मान समारोह का आयोजन रखा गया है। सम्मान समारोह में समाजसेवी, पत्रकार, प्रशासनिक अधिकारी, साहित्यकार, व्यवसायी, चिकित्सा, शिक्षा शास्त्री सहित समाज के विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य करने वाली लब्ध प्रतिष्ठित ब्राह्मण प्रतिभाओं को सम्मानित किया जायेगा।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

25,000FansLike
15,000FollowersFollow
100,000SubscribersSubscribe

Amazon shopping

- Advertisement -

Latest Articles