इंडियन कोस्ट गार्ड पेपर में नकल कराने वाले गिरोह के छह आरोपी गिरफ्तार

जयपुर/कोटा। कोटा जिले की विज्ञान नगर थाना पुलिस एवं एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स ने बड़ी कार्रवाई करते हुए इंडियन कोस्ट गार्ड के पेपर सीजीईपीटी- 2/2024 में नकल करवाने वाले गिरोह का पर्दाफाश कर छह आरोपियों को गिरफ्तार कर मोबाइल व एक क्रेटा कार जब्त की है। मोबाइल में परीक्षा के एडमिट कार्ड व प्रश्न पत्र की सामग्री पाई गई है।

एसपी डॉ अमृता दुहन ने बताया कि आरोपी अशोक जाट (38) निवासी बांगड़वा थाना हमीरवास चुरु, संदीप बुडालिया (29) निवासी बरालू थाना लोहारु जिला भिवानी हरियाणा, प्रतीक गजराज (24) निवासी पालोता थाना सिंघाना जिला झुंझुनू, रणवीर सिंह (32) निवासी काटधनोरी जिला झुन्झुनु, अशोक यादव (29) निवासी गोपाल की ढाणी थाना पचेरी जिला झुंझुनू व राहुल जाखड़ (21) निवासी धमोरा थाना गुढागोड़जी झुंझुनूं है।

आईटी पार्क के पास कार में बैठे थे आरोपी

एसपी दुहन ने बताया कि 23 अप्रैल को मुखबिर से सूचना मिली थी कि राजरानी टावर आईटी पार्क के पास कुछ व्यक्ति सन्दिग्ध अवस्था में घूम रहे हैं, जो पेपर लीक गिरोह के सदस्य हो सकते हैं। सूचना पर पुलिस टीम तुरंत मौके पर पहुंची और एक क्रेटा कार में सवार इन छह आरोपियों को पकड़ पूछताछ की तो सामने आया कि ये इंडियन कोस्ट गार्ड के पेपर लीक करने कोटा आए थे। तलाशी में इनके पास मिले मोबाइल में एडमिट कार्ड व परीक्षा के प्रश्न पत्र इत्यादि सामग्री पाई गई।

एसआइटी का किया गठन

इस पर थाना विज्ञान नगर में मुकदमा दर्ज कर जांच अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महिला अनुसंधान सेल नियति शर्मा को सौंपी गई व एक एसआईटी का भी गठन किया गया।

रिमोट एक्सेस ऐप के द्वारा करवाते थे नकल

आरोपियों के पास से जब्त किए गए मोबाइल में मिले एडमिट कार्ड व परीक्षा के प्रश्न पत्र की सामग्री के संबंध में पूछताछ की गई तो इन्होंने बताया कि ये परीक्षा केन्द्र पर बैठे अभ्यर्थी के कम्प्यूटर को हैक कर उसके प्रश्न पत्र को हल करते है, अभ्यर्थी के कंप्यूटर को हैक करने के लिये रिमोट एक्सेस एप रियलवीएनसी व्यूअर और एनीडेस्कएप का उपयोग किया जाता है।

साईबर सिक्योरिटी एनालाईसिस्ट ने की लैब की जांच

मामला संदिग्ध पाया जाने पर राजीव गांधी कम्प्यूटर साक्षरता मिशन के साईबर सिक्योरिटी एनालाईसिस्ट द्वारा राज रानी टावर आईटी पार्क स्थित किराये पर लिए गये एक कंप्यूटर लैब में रखे सभी कम्प्यूटर के सिस्टम्स को चैक करवा कर दोनों रिमोट एक्सेज एप के लोग्स लिये गये। जिसमे सामने आया कि इन रिमोट एक्सेज एप द्वारा अन्य परीक्षा केन्द्रों पर उपस्थित अभ्यर्थियों के कम्प्यूटर सिस्टम को हैक कर उनका उपयोग पेपर सॉल्व करने के लिये किया जाता है।

लैब तथा सर्वर रुम सील

कॉल लॉग पेनड्राईव में प्राप्त कर राजीव गांधी कम्प्यूटर साक्षरता मिशन द्वारा राज रानी टावर आईटी पार्क की लैब तथा सर्वर रुम को सील किया गया। जिसका अलग से निरीक्षण करवाया जावेगा।

नकल कराने 10 से 15 लाख देते थे आरोपी

आरोपियों से पूछताछ पर यह सामने आया कि उक्त गिरोह प्रत्येक अभ्यर्थी से पेपर सॉल्व/लीक करने की एवज में 10 से 15 लाख रुपये लेकर रिमोट एक्सेस के माध्यम से पेपर सॉल्व करवाते थे।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

25,000FansLike
15,000FollowersFollow
100,000SubscribersSubscribe

Amazon shopping

- Advertisement -

Latest Articles