June 14, 2024, 12:43 am
spot_imgspot_img

महिला की संदिग्ध मौत: परिजनों ने मकान मालिक व परिचित पर लगाया हत्या का आरोप

जयपुर। सांगानेर सदर थाना इलाके में एक महिला की संदिग्ध मौत का मामला सामने आया है। पुलिस ने टोंक से महिला के शव को वापस जयपुर लाकर उसका पोस्टमार्टम करवाया। पुलिस ने फिलहाल हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

पुलिस ने बताया कि परिजनों ने इस मामले में मकान मालिक और उसके परिचित पर घर में घुसकर हत्या करने का आरोप है। बोलेरो गाड़ी में शव डालकर नब्बे किलो मीटर दूर ससुराल लेकर पहुंचे आरोपियों का कहना है कि महिला ने आत्महत्या किया है। महिला के गले पर चोट के निशान मिलने पर लोकल पुलिस को बुलाया गया। बौंली (सवाई माधोपुर) निवासी रसाल गुर्जर (25) की हत्या का मामला दर्ज करवाया गया है।

वह सांगानेर सदर के गोविंदपुरा गांव में किराए से रहती थी। करीब सात महीने से वह आशा बैरवा के मकान में चार साल के बेटे के साथ किराए से रह रही थी। पति की मौत के बाद गोविंदपुरा स्थित एक पेट्रोल पंप पर काम कर जीवन यापन कर रही थी। ग्यारह मई की रात संदिग्ध हालत में रसाल की मौत हो गई।

मौत की बात को छिपाया, बनाते रहे बहाना

मृतका के पिता कजोड़ गुर्जर ने बताया कि रात मकान मालिक आशा ने बेटे को कॉल कर बताया कि रसाल फर्श पर पड़ी हुई है। वह हॉस्पिटल लेकर जा रहे है। करीब आधे घंटे बाद दोबारा कॉल कर उसको गांव लेकर आने की बात कही। इसी दौरान साले की बेटी के बताया कि उसके पास परिचित ने कॉल कर बताया कि उसकी बहन मर गई। वीडियो कॉल करने पर रसाल का शव सोफे पर पड़ा था। इस बारे में पूछने पर बहाने बनाते हुए उन्हें भी आने के लिए कहा। इसके बाद परिजन भी घर से गांव निवाई टोंक स्थित सिरोही पहुंचने के लिए रवाना हो गए।

मकान मालिक आशा, परिचित रमेश और उसके रिश्तेदार के साथ बोलेरो गाड़ी में रसाल का शव डालकर जयपुर से निवाई टोंक ले गया। निवाई के सिरोही गांव पहुंचने पर बोलेरो में रसाल का शव रखा मिला। रसाल के गले और सिर पर चोट के निशान थे। पूछने पर आरोपियों ने फंदा लगाकर सुसाइड करने की कहकर बात कहकर शव लेने का दबाव बनाना शुरू कर दिया। सवाल-जवाब करने पर आरोपी सकपका गए। शक होने पर दत्तवास पुलिस को सूचना देकर मौके पर बुलाया। दत्तवास थाने के दो पुलिसकर्मियों ने शव को कब्जे में लिया और निवाई से शव को लेकर जयपुर के सांगानेर सदर थाने पहुंचे। सांगानेर सदर थाना पुलिस ने महात्मा गांधी हॉस्पिटल की मॉर्च्युरी में शव को रखवाया।

अगले दिन सुबह मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया। मृतका के पिता कजोड़ गुर्जर ने मकान मालकिन आशा और परिचित रमेश के खिलाफ सौलह मई को सांगानेर सदर थाने में हत्या का मामला दर्ज करवाया है। कजोड़ का कहना है कि रिश्तेदारी में मौत होने के कारण पिछले दिनों रसाल और उसका चार साल का बेटा उनके पास ही थे। करीब 3-4 दिन पहले ही रसाल वापस जयपुर आई थी।

उसका चार साल का बेटा उनके पास ही रुका हुआ था। मकान मालकिन और उसके परिचित रमेश ने घर में घुसकर बेटी रसाल की हत्या कर दी। उसके बाद मामले को दबाने के लिए आत्महत्या करना बताया। बिना पुलिस को सूचना किए शव के अंतिम संस्कार के लिए निवाई टोंक लेकर पहुंच गए।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

25,000FansLike
15,000FollowersFollow
100,000SubscribersSubscribe

Amazon shopping

- Advertisement -

Latest Articles