छोटी काशी में छाया राम जन्मोत्सव का उल्लास: राम मंदिरों में चली रामधुनी

जयपुर। भगवान राम के जन्मोत्सव (रामनवमी) पर जयपुर के मंदिरों में विशेष आयोजन किए । मंदिरों में रामधुनी के कार्यक्रम चले। चांदपोल के रामचंद्र जी मंदिर में भी सुबह से विभिन्न कार्यक्रम हुए। बुधवार सुबह भगवान राम का पंचामृत से अभिषेक किया गया। मंदिर में सुबह 9.35 बजे श्रृंगार आरती हुई। दोपहर 2.30 बजे श्री राम लाल जन्मोत्सव और बधाई गान हुए। मंदिर में भगवान के दर्शनों के लिए श्रद्धालुओं का जमावड़ा लगा रहा है।

चांदपोल स्थित 130 वर्ष पुराने सीताराम मंदिर में रामनवमी पर भव्य कार्यक्रम आयोजित हुए। सुबह 6 बजे मंगला आरती के साथ कार्यक्रमों की शुरुआत हुई। इसके बाद मंगल कशल की पूजा की गई। सुबह 11 बजे पंचामृत अभिषेक किया गया। जिसमें घी, दूध, दही शहद सहित अन्य सामग्री से अभिषेक करवाया गया। भगवान को केसर, इत्र और गुलाब के जल से अभिषेक करवाया गया। दोपहर 2.30 बजे भगवान की जन्म आरती हुई। इसके बाद से ही भक्तों को भगवान के जन्मोत्सव की बधाई का दौर चलता रहा।

पुजारी अभिषेक तिवाड़ी ने बताया कि मंदिर को पितांबरी रंग से सजाया गया। मंदिर में फूलों की विशेष झांकी सजाई गई। भगवान को कुंदन-मीने जड़ित स्वर्ण मुकुट धारण करवाया गया। भगवान को विशेष आभूषण धारण करवाए गए।

सीताराम मंदिर में धूमधाम से मनाया गया रामनवमी महोत्सव
 

चैत्र नवरात्रि की रामनवमी पर बुधवार को छोटी चौपड़ स्थित सीताराम जी मंदिर में महंत नंदकिशोर महाराज के पावन सानिध्य में राम नवमी महोत्सव धूमधाम से मनाया गया। प्रात 8 बजे ठाकुर का अलौकिक श्रृंगार कर आरती की गई। जिसके पश्चात 11 बजे राम लला का 51 किलो दूध से 11 पंडितों द्वारा मंत्रोच्चार के साथ पंचामृत अभिषेक किया गया।  
पंडित दीपक शर्मा द्वारा ठाकुर जी का कोलकाता से मंगाए पुष्पों से एवं रजवाड़ा नूतन पोशाक से मनमोहक श्रृंगार किया गया। 101 हवाईयो के साथ सवा एक बजे रामलला जी का जन्म हुआ , पूरा वातावरण रामलला के जयकारों से गुंजयमान हो गया,
 

पंडित विमल शर्मा के द्वारा रामलला की पालने मै जन्म आरती की गयी । रामनवमी पर 300 वर्षो से रामलला पालने मै मनमोहक दर्शन देते है, इस अवसर पर  मंदिर में आए हुए भक्तों को पंजरी, लड्डू प्रसाद, पंचामृत एवं बधाई वितरित की गई।

भक्तों के द्वारा  चलो चलो जी अवध राज दरबार,जन्मे राम लाल बाकी सालगिरह छ आज,,,,,, अवधपुरी आनंद छायों,,,राम लियो छ अवतार, नोमी तिथि शुभ दिन मंगलवार,,,, जैसे पदों का गायन किया,,,,
 पंडित कमल शर्मा ने बताया कि इस अवसर पर 2100 दीपक से ठाकुर जी की महाआरती के साथ दीपोत्सव मनाया गया।

 गलता पीठ में पीठाधीश्वर अवधेशाचार्य के सानिध्य में मनाया गया राम जन्म महोत्सव
 

श्री गलताजी में गलतापीठाधीश्वर स्वामी अवधेशाचार्य महाराज के पावन सान्निध्य में रामनवमी महोत्सव मनाया गया। जिसमें भगवान श्रीराम का दिव्य तिरूमंजन अभिषेक किया गया। इस अवसर पर केदारनाथ, काशी ,जगन्नाथ, रामेश्वर ,द्वारका जी आदि स्थानों से संत –महात्मा इस रामजन्म महोत्सव में उपस्थित हुए। श्री गलता पीठ के युवराज स्वामी राघवेन्द्र ने बताया कि उत्तर तोदाद्रि श्री गलता जी में गलतापीठाधीश्वर स्वामी अवधेशाचार्य महाराज के पावन सान्निध्य में चैत्र
नवरात्र के 9वें दिन बुधवार  को श्री गलता पीठ में पूर्ण श्रद्धा और भव्यता के साथ  श्री राम नवमी के पावन अवसर पर भगवान श्री राम का जन्म महोत्सव मनाया गया। इसके तहत 500 वर्ष से भी अधिक प्राचीन श्री रामलला के चतुर्भुज विग्रह की सुबह श्री गलता पीठ से श्रीनिवास के बालाजी तक विधि-विधान से शोभायात्रा निकाली गयी। श्री निवास के बालाजी में भगवान की आरती की गयी। श्री रतन मीणा, राजेश ने सभी के लिये फलाहार आदि की व्यवस्था की। इसके पश्चात शोभायात्रा पुनः श्री गलता पीठ पहुंची एवं श्री गलतापीठाधीश्वर स्वामी महाराज ने भगवान की कुम्भ आरती की।


 21 गर्जनाओं से मनाया गया श्री रामजी का जन्मोत्सव
 

श्री गलता पीठ के युवराज स्वामी राघवेन्द्र ने बताया कि दोपहर 12 बजे भगवान श्री राम का 21 गर्जनाओं के साथ जन्म हुआ। इसके पश्चात गलतापीठाधीश्वर स्वामी अवधेशाचार्य महाराज एवं युवाचार्य  स्वामी राघवेन्द्र महाराज द्वारा श्री गलता पीठ में विराजमान भगवान श्री राम के अतिप्राचीन एवं दिव्य विग्रहों का विद्वानों द्वारा वैदिक मंत्रोच्चार के साथ फलों, फलों के रसों, पंचामृत, सर्व औषधि, पंचमेवों, समस्त द्रव्यों, सहस्रधारा, शंख-चक्र आदि से तिरुमंजन अभिषेक किया गया।
इसके पश्चात भगवान का आकर्षक शृंगार किया गया। जिसके बाद  भगवान की सामूहिक महाआरती की गयी। तदोपरांत गलतापीठाधीश्वर स्वामी अवधेशाचार्य महाराज ने श्री गलता में विराजमान सभी विग्रहों की आरती की।


इस अवसर पर जयपुर के प्रख्यात भजन गायकों एवं कलाकारों द्वारा भगवान के मुखोल्लास के लिए प्रस्तुतियां दीं गयीं एवं बधाई गान गाये गए।  नौ दिन तक चलने वाले सामुहिक नवाह्नपारायण पाठ का नवां पारायण कर पूर्णाहुति हवन किया गया।

गौरतलब है कि श्री गलता पीठ में श्री रामनवमी का पर्व बड़ी प्रमुखता एवं हर्ष के साथ मनाया जाता है। श्री गलता जी मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान  श्री राम का उत्तर भारत का प्रथम भक्ति केंद्र  है एवं यहाँ भगवान राम के तीन अलग अलग समय का दर्शन कराते अति प्राचीन 3 दिव्य विग्रह हैं,  जिनकी सेवा पूजा 500 से भी अधिक वर्षों से श्री गलता पीठ के परम्परागत आचार्यों के सान्निध्य में नियमित रूप से की जाती है ।

आदर्श नगर श्रीराम मंदिर में मनाया गया राम नवमी महोत्सव
 

आदर्श नगर में स्थित श्रीराम मंदिर में बुधवार को श्रीराम नवमी महोत्सव हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। मंदिर प्रांगण में  जनम लिया मेरे रघुराई ,अवध पुरी में बहार आई , हृदय बसो मेरे रघुराई अवध पुरी में बहार आई  का गान हुआ।श्री राम नवमी के अवसर पर प्रभु श्री राम के दर्शनों  के प्रति भक्तों की आस्था की गंगा बही ।


 मंगला आरती के पश्चात वैदिक मंत्रोच्चार के साथ विश्व कल्याण की भावना से  अध्यक्ष हरचरण लेकर , महामंत्री अनिल खुराना,कोषाध्यक्ष लक्ष्मण मलिक सहित , रवि सचदेव ने हवन में आहुतियां प्रदान कीं।सुंदर कांड का पाठ हुआ ।भक्तों ने श्री राम नाम का संकीर्तन कर मंदिर परिसर को गुंजायमान कर दिया ।भगवान का पंचामृत अभिषेक कर  पीत रंग की पोशाक धारण कराई गई ।ऋतु पुष्पों से मोहक  श्रृंगार हुआ ।मध्यान्ह बारह बजे घंटे, घड़ियाल, शंख बजाकर भगवान की प्राकट्य आरती हुई ।आरती के लिए जैसे ही पट्ट खुले भगवान के जयकारों से मंदिर परिसर गूंज उठा।

आरती में विधायक काली चरण सराफ,सांसद प्रत्याशी मंजू शर्मा ,अशोक परनामी ,गौसेवक रवि नय्यर ,पार्षद स्वाति परनामी नीरज अग्रवाल सहित श्री राम मंदिर प्रन्यास के शिवदत्त विरमानी ,इंद्र कुमार चड्ढा ,अश्वनी बैरी ,संजय आहूजा ,जितेंद्र चड्ढा ,राजीव मनचंदा और अशोक भगत , किशोर मोतियानी ,डॉ महेश पोपली,उमेश तनेजा ,तुलसी संगतानी,नितिन भाटिया ,राजकुमार  भाटिया ,इंद्रजीत शर्मा ,योगेश खुराना,लक्ष्मण टेकचंदानी ,मनोज ठाकवानी ,गोपाल कृष्ण शर्मा सहित कई भक्त सम्मिलित हुए ।बैंड वादन से श्रद्धालु झूम कर ,नाच कर  अपनी प्रसन्नता व्यक्त करने लगे।
 महिला मंडल द्वारा जनम लिया मेरे रघुराई ,अवध पुरी में बहार आई ….,
हृदय बसो मेरे रघुराई अवध पुरी में बहार आई …..,पलकें ही पलकें बिछाएंगे …..सहित अन्य बधाई गान गाए गए ।भगवान को भोग लगने के पश्चात विशाल भंडारे  का आयोजन हुआ।रात्रि में बिजली की झालरों और रंगीन रोशनी से मंदिर परिसर जगमग हो उठा।

 सिद्धेश्वर महादेव मंदिर में हर्षोल्लास से मनाया रामजन्म पाटोत्सव

मानसरोवर के अग्रवाल फार्म में सेक्टर-12 गुरुनानक पार्क स्थित श्री सिद्धेश्वर महादेव मंदिर में बुधवार को श्रीराम जन्म के परम शुभ अवसर पर विगत वर्षों की भांति दसवां श्री मंदिर पाटोत्सव बहुत ही हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इस अवसर पर भक्तों ने दर्शनलाभ प्राप्त किए।   मंदिर समिति की ओर से करीब एक हजार श्रद्धालुओं के लिए भण्डारे का आयोजन किया गया जिसमें श्रद्धालुओं को भोजन व प्रसादी का वितरण किया गया।
     

श्री सिद्धेश्वर महादेव मंदिर समिति के अध्यक्ष अरुण तिवारी ने बताया कि इस अवसर पर  चेयरमैन कच्ची बस्ती प्रकोष्ठ  भारती लखियानी, पार्षद राम अवतार गुप्ता व पार्षद  अभय पुरोहित व मंडल अध्यक्ष कुणाल चौधरी ने शिरकत की और श्रीराम दरबार की पूजा अर्चना की। इनके साथ ही सैकड़ों की संख्या में अन्य श्रद्धालु भी मंदिर प्रांगण पहुंचे ओर भगवान श्रीराम का आशीर्वाद लिया।
   

मंदिर समिति के महासचिव सी जे आहूजा ने बताया कि श्रीराम पाटोत्सव के अवसर पर मंदिर को विशेष रूप से सजाया गया तथा श्रीराम दरबार की झांकी सजा कर महा आरती की गई। नवरात्रा के समापन पर मंदिर के पुजारी द्वारा मंत्रोच्चार के साथ हवन किया गया एवं महिलाओं द्वारा गीत गाए गए ।
     

इस अवसर पर मंदिर समिति के संरक्षक एम एन गोस्वामी, उपाध्यक्ष रामेश्वर, कोषाध्यक्ष रमेश माथुर, सांस्कतिक सचिव कौशल किशोर शर्मा तथा महिला भक्त मंडल की हेमा आहूजा, मधु ग्रोत्रा, सीमा झालानी, मेघा कंसल व नीमा श्रीवास्तव ने आये हुए श्रद्धालुओं एवं अतिथिगण का स्वागत कर दर्शनलाभ में सहायता प्रदान की।  आयोजित भण्डारे में मंदिर के नियमित सदस्यों एवं श्रद्धालुओं ने बढ़चढ़कर श्रमदान व परोसगारी सेवा में भाग लिया।

राम नवमी पर श्रीराम का महाअभिषेक

चैत्र नवरात्रि पर नवमी तिथि पर श्री खोले के हनुमान मंदिर में श्रीराम जी का अल सुबह महा अभिषेक किया गया । जिसके पश्चात भगवान श्रीराम का अलौकिक श्रृंगार कर षोडशोपचार पूजन संपन्न हुआ  । इसी के साथ भगवान को राजभोग अर्पण कर उनकी महाआरती की गई  ।

श्री नरवर आश्रम सेवा समिति के अध्यक्ष गिरधारी लाल शर्मा ने बताया कि रामनवमी के दिन मंदिर प्रांगण में विशाल सुंदरकांड के पाठ आयोजित किया गया । जिसमें सैकड़ो की संख्या में भक्तगण सुंदरकांड का पाठ किए ।  जिसके बाद शाम को 108 आसन से रामचरित मानस के पाठों का पारायण किया गया । इस अवसर पर हनुमान जी के लिए फूल बंगला झांकी सजाई गई । जिसमें उन्हे विराजमान किया गया।

 रामनवमी पर मनाया  विश्व जागृति मिशन का 33 वां स्थापना दिवस

विश्व जागृति मिशन का 33 वां स्थापना दिवस बुधवार को रामनवमी पर गुलाबी नगरी में जयपुर मंडल के श्रद्धालुओं द्वारा पारंपरिक हर्षोल्लास के साथ मनाया गया । जयपुर मंडल के प्रधान मदन लाल अग्रवाल ने बताया कि इस अवसर पर विश्व जागृति मिशन के संस्थापक श्री सुधांशु जी महाराज के संकल्प और संदेश का प्रसारण किया गया । शाम को आदर्श नगर में बीस दुकान स्थित सोमेश्वर महादेव मंदिर परिसर में शाम 5 बजे से आचार्य  मोहन शास्त्री के सानिध्य में हवन और कन्या पूजन जैसे कार्यक्रम संपन्न किए गए ।

इसके बाद धार्मिक शोभा यात्रा निकाली गई , जिसमें जयपुर मंडल से जुड़े श्रद्धालु विश्व जागृति मिशन के संस्थापक  सुधांशु जी महाराज के मानव कल्याण, व्यक्तित्व निर्माण और सामाजिक उत्थान के संदेश पर आधारित नारे लगाते हुए चले । इसमें गुरुदेव के संकल्प और संदेश को रामधुनि के साथ प्रसारित किया गया । यह शोभा यात्रा सोमेश्वर महादेव मंदिर से रवाना होकर बीस दुकान और आदर्श नगर क्षेत्र से गुजरते हुए वापस सोमेश्वर महादेव मंदिर पहुंची 

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

25,000FansLike
15,000FollowersFollow
100,000SubscribersSubscribe

Amazon shopping

- Advertisement -

Latest Articles