June 19, 2024, 3:58 am
spot_imgspot_img

‘वोकल फॉर लोकल’और ‘आत्मनिर्भर भारत अभियान’ को समर्पित खादी महोत्सव

मुंबई। खादी फॉर नेशन, खादी फॉर फैशन और वोकल फॉर लोकल के विचार। एक बार फिर खादी अपने नए विचारों के साथ सामने आई है। जिसका उद्देश्य नागरिकों को आत्मनिर्भर भारत के लक्ष्य में योगदान देने के लिए खादी उत्पाद खरीदने और पहनने के लिए प्रोत्साहित करना है। अक्टूबर खादी महोत्सव का महीना है। यह महोत्सव “वोकल फॉर लोकल” पहल और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा सोचे गए ‘आत्मनिर्भर भारत अभियान’ का समर्थन करने को समर्पित है। महात्मा गांधी की 154वीं जयंती मनाते हुए केंद्रीय सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्री नारायण राणे ने मुंबई में खादी यात्रा को हरी झंडी दिखाई थी और 2 अक्टूबर से 31 अक्टूबर, 2023 तक होने वाले ‘खादी महोत्सव’ की घोषणा की।

इस अभियान का उद्देश्य खादी और ग्रामोद्योग, हथकरघा, हस्तशिल्प, ओडीओपी (एक जिला एक उत्पाद) उत्पादों और स्थानीय स्तर पर उत्पादित विभिन्न पारंपरिक और कुटीर उद्योगों को बढ़ावा देना है। यह महोत्सव विभिन्न राज्यों के खादी उत्पादों की एक विविध शृंखला का प्रदर्शन करता है। इसमें खादी के कपड़े, रेशम की साड़ी, ड्रेस मटीरियल, कुर्ते, जैकेट, बेडशीट, कालीन, रसायन मुक्त शैंपू, शहद, अन्य घरेलू सामान, और साथ ही उत्कृष्ट कला और हस्तशिल्प शामिल हैं।

सरकार ने ठोस नतीजे पाने के लिए देश भर में शुरू की जाने वाली कई विशिष्ट जागरूकता गतिविधियों की पहचान की है। इन मुख्य गतिविधियों में सरकार के डिजिटल प्लेटफॉर्म पर छात्रों और आम जनता के लिए क्विज़ प्रतियोगिताएं और निबंध लेखन प्रतियोगिताएं आयोजित करना और साथ-साथ सेल्फी प्रतियोगिताएं, ई-प्रतिज्ञाएं, जिंगल प्रतियोगिताएं, क्रिएटिव फिल्म प्रतियोगिताएं, नुक्कड़ नाटक और वीडियो गेम प्रतियोगिताएं आयोजित करना शामिल है। इसका उद्देश्य युवाओं को खादी, ‘वोकल फॉर लोकल’ के प्रति संवेदनशील बनाना और उन्हें हमारी अर्थव्यवस्था, पारिस्थितिकी और महिला सशक्तिकरण के लिए इनसे होने वाले लाभों के बारे में जागरूक करना है।

यह बड़े पैमाने पर जनता और विशेष रूप से युवाओं को खादी और स्थानीय उत्पाद खरीदने के लिए प्रेरित करेगा और उनमें स्थानीय उत्पादों के प्रति गौरव पैदा करेगा। इस अनुसरण में, भारत सरकार ने ठोस परिणाम प्राप्त करने के लिए देश भर में की जाने वाली विशिष्ट जागरूकता गतिविधियों की पहचान की है। सरकार के डिजिटल प्लेटफॉर्म पर छात्रों और आम जनता के लिए आयोजित की जा रही क्विज़ प्रतियोगिता और निबंध लेखन प्रतियोगिता के जरिये खादी प्रेमियों के बीच वोकल फॉर लोकल की भावना को जगाने और उन्हें भारत के इतिहास के इस शानदार अध्याय की याद दिलाने का एक प्रयास है। प्रतियोगिता में भाग लेने वाले सभी प्रतिभागियों को उचित पुरस्कार दिया जाएगा।

इसी तरह नारा प्रतियोगिता में प्रतिभागियों को ‘खादी महोत्सव’ विषय पर ध्यान आकर्षित करने वाले नारे के साथ आना होगा। नारा लेखन प्रतियोगिता का मुख्य उद्देश्य नागरिकों के बीच खादी और एक कपड़े के रूप में इसके प्रचार के बारे में जागरूकता पैदा करना, स्थानीय पहल के लिए मुखर के महत्व के बारे में नागरिकों के बीच ज्ञान विकसित करना, फोकस क्षेत्रों की प्रासंगिकता के बारे में समझ को बढ़ावा देना और नागरिकों को प्रोत्साहित करना है। भारत को आत्मनिर्भर बनाने में खादी और स्थानीय उत्पादों पर रचनात्मक रूप से अपने विचार व्यक्त करना।

ई-प्रतिज्ञा सरकार की वेबसाइट पर पोस्ट की जाएगी और नागरिकों को एक प्रमाणपत्र प्रदान किया जाएगा। सेल्फी प्रतियोगिता के माध्यम से सभी नागरिकों, फैशन के प्रति उत्साही और टिकाऊ कपड़ों के समर्थकों से खादी और स्थानीय उत्पादों, हमारे देश की विरासत के कपड़े के प्रति अपना प्यार सबसे रचनात्मक तरीके से दिखाना है।

अभियान के तहत वीडियो गेम प्रतियोगिता जहां प्रतिभागी एक गेम तैयार कर सकते हैं। और 2 अक्टूबर से 31 अक्टूबर 2023 तक प्रस्तावित साइट पर अपलोड कर सकते हैं।
खादी यात्रा स्थानीय उत्पादों, आत्मनिर्भरता और राष्ट्र के लिए खादी और फैशन के लिए खादी के महत्व के बारे में युवाओं के बीच जागरूकता पैदा करने के लिए खादी यात्रा के अलावा पूरे भारत में भी आयोजित की जाएगी।

जिंगल प्रतियोगिता और क्रिएटिव फिल्म प्रतियोगिता 2 अक्टूबर से 31 अक्टूबर तक आयोजित की जा रही है। भारतीय नागरिक प्रतियोगिताओं में भाग लेने के पात्र हैं और विजेताओं को उचित पुरस्कार दिया जाएगा।

5000 दुकानों के माध्यम से खादी, हथकरघा और एक जिला एक उत्पाद (ओडीओपी) उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए एक सफल बिक्री अभियान बनाना एक सुविचारित रणनीति तैयार करना और उपभोक्ताओं को खादी और हथकरघा की विशिष्टता और लाभों के बारे में शिक्षित करना होगा।

नुक्कड़ नाटक के अंतर्गत बढ़ती जागरूकता की अवधारणा पर विभिन्न स्तरों पर मैदानी स्तर पर प्रतियोगिताएं आयोजित की जाएंगी और प्रतिभागियों को उचित पुरस्कार दिया जाएगा। उपयुक्त पाए जाने पर प्रतियोगिता ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों मोड में होगी। सभी प्रतियोगिताओं के परिणाम घोषित किए जाएंगे।

अनिल बेदाग

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

25,000FansLike
15,000FollowersFollow
100,000SubscribersSubscribe

Amazon shopping

- Advertisement -

Latest Articles