June 22, 2024, 9:31 pm
spot_imgspot_img

नई शिक्षा नीति से विद्यार्थियों का होगा सर्वांगीण विकास: मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा

पाली। मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा ने कहा कि विद्या भारती के आदर्श विद्या मंदिर और सरस्वती शिशु मंदिरों के माध्यम से विद्यार्थियों को चरित्र निर्माण, राष्ट्रीय भावना और सामाजिक सरोकार विकसित करने की शिक्षा मिलती है। इन विद्यालयों में विद्या भारती द्वारा बच्चों को संस्कृति और संस्कार सिखाये जाते हैं, जिससे राष्ट्र निर्माण हो रहा है।

मुख्यमंत्री शर्मा शनिवार को पाली के तखतगढ़ में रायगांधी आदर्श विद्या मंदिर के नवीन भवन के लोकार्पण कार्यक्रम एवं भामाशाह सम्मान समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की पहल से केंद्र सरकार की नई शिक्षा नीति शिक्षा के क्षेत्र में क्रांतिकारी बदलाव लाने वाली है। यह नीति विद्यार्थियों के सर्वांगीण विकास, कौशल उन्नयन और रोजगार के लिए उन्हें तैयार करने पर बल देती है। प्रधानमंत्री मोदी जी ‘परीक्षा पे चर्चा’ के माध्यम से विद्यार्थियों के साथ संवाद कर उन्हें प्रेरणादायी परामर्श देते हैं।

शर्मा ने कहा कि हमारी सरकार अल्प आय वर्ग, लघु/सीमांत एवं बटाईदार किसानों और खेतिहर श्रमिकों के परिवार के छात्रा-छात्राओं को केजी से पीजी तक निःशुल्क शिक्षा दे रही है। आर्थिक रूप से कमजोर परिवार के विद्यार्थियों को स्कूल बैग, किताबें और यूनिफॉर्म खरीदने के लिए कक्षा 1 से 8वीं तक के समस्त विद्यार्थियों और कक्षा 9वीं से 12वीं तक की छात्राओं को प्रति विद्यार्थी एक हजार रुपये की सहायता दी जा रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रत्येक संभाग में आईआईटी की तर्ज पर राजस्थान इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी और एम्स की तर्ज पर राजस्थान इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस स्थापित किए जा रहे हैं। साथ ही हर जिले में एक मेडिकल कॉलेज शुरू किया जा रहा है। अटल इनोवेशन स्टूडियो एंड एक्सीलरेटर 1,000 करोड़ रुपए की लागत से प्रारंभ कर रहे हैं। इससे आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, मशीन लर्निंग और डेटा साइंस जैसे विज्ञान और तकनीक के नए उभरते हुए क्षेत्रों के लिए विद्यार्थी खुद को तैयार कर पाएंगे। उन्होंने कहा कि पेपर लीक के मामलों की जांच के लिए हमने एसआईटी गठित की और उसके नतीजे आप सभी के सामने हैं।

शर्मा ने अभिभावकों से बच्चों को शिक्षा के महत्व को समझाने और उसे प्राप्त करने के लिए प्रेरित करने की अपील की। उन्होंने शिक्षकों से विद्यार्थियों को शिक्षा के साथ जीवन के महत्वपूर्ण मूल्यों को सिखाने के लिए कहा। उन्होंने कहा इस विद्यालय में शिक्षा के लिए नवीन भवन का निर्माण एवं जरूरी सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए भामाशाह मणिलाल रायगांधी और नरेन्द्र कुमार रायगांधी ने प्रशंसनीय कार्य किया है। शिक्षा के क्षेत्र में इस योगदान को पीढ़ियों तक याद किया जाएगा।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

25,000FansLike
15,000FollowersFollow
100,000SubscribersSubscribe

Amazon shopping

- Advertisement -

Latest Articles